प्रांतीय वॉच

कलेक्टर ने ली स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक

  • 27 नवंबर को आयोजित वैक्सीनेशन महाअभियान में जिले के 1 लाख से अधिक लोगों को लगेगा कोविड का टीका
  • वैक्सीनेशन कार्य में लापरवाही बरतने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कारण बताओ
    नोटिस जारी
  • स्वास्थ्य केंद्रों में शाम को भी संचालित होंगी ओपीडी, हाट बाज़ारो में विशेषज्ञ चिकित्सकों की मिलेगी सेवाएं

आफ़ताब आलम/बलरामपुर : कलेक्टर कुंदन कुमार ने आज सयुंक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में स्वास्थ्य विभाग सहित 27 नवंबर को आयोजित होने वाले कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए तथा शासन के मंशा अनुरूप हमें शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का कार्य पूर्ण करना होगा। इस आशय से 27 नवंबर को कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान संचालित किया जाएगा, जिसमें लगभग 500 सेशन साइट के माध्यम से लोगो को टीका लगेगा। उन्होंने जिले वासियों से कोरोना का टीका लगवाने की अपील करते हुए कहा कि बिना डर भय के कोविड का टीका लगवाएं। कलेक्टर श्री कुमार ने वैक्सीनेशन के नोडल सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को वैक्सीनेशन महाअभियान की सूक्ष्म व विस्तृत कार्ययोजना से अवगत कराया। साथ ही कहा कि सुदूर गांवों तक वैक्सीनेशन महाभियान के लिए लोगों को मुनादी के माध्यम से जानकारी दी जाए ताकि लोग वैक्सीन लगाने के लिए आगे आएं। वैक्सीनेशन महाअभियान में समाज प्रमुखों तथा जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जाए। उन्होंने वैक्सीन की उपलब्धता, वैक्सीन पहुंचाने, वैक्सीन लगाने व डाटा एंट्री की पूरी प्रक्रिया अधिकारियों से साझा की तथा आगामी सोमवार को पूरी कार्ययोजना की पुनः समीक्षा करने की बात कही। कलेक्टर ने सभी विभागों के कार्यालय प्रमुख सह नोडल अधिकारियों से कहा कि स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर इस अभियान के लिए पूरी तैयारी कर लें। कलेक्टर श्री कुमार ने पूर्व में की गई वैक्सीनेशन की डाटा एंट्री को सुसंगत ढंग से पूर्ण करने के निर्देश दिए तथा आगामी 2 दिनों में सभी लंबित एंट्री का कार्य पूर्ण करने को कहा। वैक्सीनेशन के लिए गांव-गांव तक लोगों को जानकारी दी जाए तथा उन्हें वैक्सीनेशन के सकारात्मक प्रभाव के बारे में बताएं ताकि लोग आगे आकर बिना किसी संकोच के वैक्सीन लगाएं। उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हमारी सर्वाेच्च प्राथमिकता है और इसे शीघ्र ही पूरा किया जाएगा तथा सभी अधिकारी इस आशय से अपनी तैयारियां पूर्ण कर लें। कलेक्टर ने वैक्सीनेशन कार्य में लापरवाही बरतने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

जिले में स्वास्थ सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए कलेक्टर ने स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ की समीक्षा
आगामी एक माह में 1 लाख 80 हज़ार आयुष्मान कार्ड बनाने का दिया लक्ष्य
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावनाओं के दृष्टिगत अन्तर्राज्यीय सीमावर्ती सहित घनी आबादी वाले क्षेत्रों में कोविड-19 जांच बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी कोविड-19 अस्पतालों में न्यूनतम आवश्यक तैयारियां पूर्ण होनी चाहिए, आगामी 15 दिनों में सभी कोविड-19 अस्पतालों में व्यवस्था ठीक कर ले। उन्होंने विशेष कोविड अस्पताल वाड्रफनगर, कोविड केयर सेंटर आरागाही सहित सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तैयारियां पूर्ण करने को कहा। कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार ने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में माइनर ऑपरेशन प्रारंभ करने के निर्देश देते हुए विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवाएं वैकल्पिक दिवसों में उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही जिले के स्वास्थ्य केंद्रों में शाम के समय भी ओपीडी का संचालन प्रारंभ करने के निर्देश दिए। उन्होंने आगामी एक माह में 1 लाख 80 हजार आयुष्मान कार्ड बनाने का लक्ष्य देते हुए कहा कि लोगों को इस योजना लाभ मिलना चाहिए। सभी खंड चिकित्सा अधिकारी आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए विशेष शिविर के साथ अस्पतालों में भी इसकी व्यवस्था सुनिश्चित कर सतत समीक्षा करें। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री की सर्वाेच्च प्राथमिकता प्राप्त हाट बाजार क्लीनिक योजना की सफलता के लिए सभी डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को विशेष पहल के साथ कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा कि हाट-बाजार में लोगों को बेहतर इलाज मिले तथा समय-समय पर विशेषज्ञ डॉक्टर भी हाट-बाजारों में लोगों का इलाज करें। कलेक्टर ने इसके अतिरिक्त संस्थागत प्रसव, नियमित टीकाकरण, सामुदायिक प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी ली तथा स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए कार्य करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने कुसमी व शंकरगढ़ के खंड चिकित्सा अधिकारियों के पद पर नए चिकित्सकों की पदस्थापना करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए।
इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रीता यादव, संयुक्त कलेक्टर श्री आर.एन.पाण्डेय, श्री एच.एल. गायकवाड, डिप्टी कलेक्टर श्री दीपक कुमार निकुंज, सर्व जिला कार्यालय प्रमुख सहित स्वास्थ विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *