रायपुर वॉच

कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय इस बार 06 नवम्बर को अपना जन्मदिवस रायपुर में नहीं मना पायेंगे, जानें वजह….

रायपुर (छत्तीसगढ़)। रायपुर पश्चिम विधानसभा के कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय अपने विधायकी कार्यकाल के चौथें वर्ष पहली बार ऐसा होगा जब वे क्षेत्र की जनता के साथ अपना जन्मदिन 06 नवम्बर पर रायपुर में नहीं मना पायेंगे। वजह पार्टी हाई कमान द्वारा दी गई इन्हें हिमांचल के विधानसभा चुनाव की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का है, जहाँ वे लगातार 12 नवम्बर को होने वाले मतदान को लेकर चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा है कि हिमांचल में इस बार यहाँ की जनता भाजपा के कुशासन के खिलाफ वोट देकर कांग्रेस को भारी बहुमत से विजयी बनाने जा रही है।

पश्चिम विधानसभा के लिए 06 नवम्बर का दिन वह अवसर लेकर आता है जब पूरे क्षेत्र की जनता ही नहीं, बल्कि प्रदेश भर के युवा साथीगण अपने चहेते नेता व लोकप्रिय जनप्रतिनिधि के तौर पर लोगों के दिलों में राज करने वाले विकास उपाध्याय का जन्मदिन मनाने हजारों की संख्या में रायपुर में जुटते हैं। गतवर्ष तो प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वयं विकास उपाध्याय के सरकारी आवास में पहुँचकर उन्हें बधाई दी थी। परन्तु इस बार ऐसा नहीं हो पायेगा, इसलिए कि विधायक विकास उपाध्याय इस दौरान हिमांचल प्रदेश के चुनावी समर में सम्मिलित रहेंगे। इसके लिए वे पूर्व से ही वहाँ पहुँच चुके हैं एवं वोटिंग के पूर्व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मैराथन बैठक और कांग्रेस के वचनपत्र को पहाड़ियों में निवासरत् लोगों से रूबरू होने इस डगर को चढ़कर लोगों के घरों में एक-एक मतदाता से मिलकर पार्टी की बात को पहुँचा रहे हैं।

विकास उपाध्याय ने क्षेत्र के नागरिकों एवं उनके चाहने वालों को भेजे संदेश में कहा है कि जिस पार्टी के बलबूते पर उनकी आज यह पहचान है, सबसे पहले उसके दिशा निर्देशों का पालन करना उनका मूल कर्तव्य है। आज कांग्रेस पार्टी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि हिमांचल प्रदेश में हो रहे चुनाव में पार्टी को जीत कैसे हासिल हो को लेकर मेहनत करना और निश्चित रूप से प्रदेश के स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता एवं निष्ठावान नेताओं ने अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पार्टी द्वारा घोषित वचनपत्र को एक-एक मतदाता तक पहुँचाने कांग्रेस के ये जिम्मेदार लोग सार्वजनिक तौर पर एक साझा कार्यक्रम के तहत् इसे अंजाम दे रहे हैं। निश्चित रूप से हिमांचल में आने वाले चुनाव परिणाम कांग्रेस के पक्ष में होगा, इसलिए कि भारतीय जनता पार्टी ने हिमांचल ही नहीं पूरे देश में लोगों के साथ सिर्फ छलने का काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *