रायपुर वॉच

खारुन नदी में सजी- धजी 30 नाव के साथ नाविकों ने लगाई रेस, रायपुर में पहली बार नौका दौड़, CM भूपेश बघेल पहुंचे तो सजी धजी नाव को देखकर खुश हुए कहा-  कश्मीर की डल झील सा नजारा लग रहा

रायपुर : रायपुर शहर में पहली बार सोमवार को नावों की रेस का आयोजन किया गया। यह रेस रायपुर के खारून नदी के महादेव घाट तट पर हुई। आम दिनों में यहां आने वाले लोगों को नांव की सैर कराने वाले नाविक सोमवार को रेसर बन गए और एक-दूसरे से होड़ लगाते नजर आए। मौका था मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन्मदिन के सेलिब्रेशन का। इस दौरान नाविकों का दम देख CM भी हैरान रह गए। खारून नदी के तट से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जैसी ही हरी झंडी दिखाई रेस शुरू हो गई। लक्ष्मण झूले से दुर्ग की ओर जाने वाले ब्रिज को छूकर वापस आने का टास्क था। इस रेस में नाविकों ने पूरा किया। कार्यक्रम का आयोजन संसदीय सचिव और क्षेत्रीय विधायक विकास उपाध्याय ने किया था।

महादेव घाट के तट पर हुई इस नाव दौड़ को देखने के लिए आसपास के इलाकों से लोग बड़ी तादाद में पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस नेताओं का बड़ा दल भी इस मौके पर मौजूद था।

रेस देखने उमड़ी भीड़
महादेव घाट के तट पर हुई इस नाव दौड़ को देखने के लिए आसपास के इलाकों से लोग बड़ी तादाद में पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस नेताओं का बड़ा दल भी इस मौके पर मौजूद था। दिनभर शहर के अलग-अलग इलाकों में मुख्यमंत्री कई कार्यक्रमों में शामिल होते रहे यह आयोजन भी इन्हीं में से एक था।

खारून नदी के तट से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जैसी ही हरी झंडी दिखाई रेस शुरू हो गई। लक्ष्मण झूले से दुर्ग की ओर जाने वाले ब्रिज को छूकर वापस आने का टास्क था।

कलाकारों को रोका पुलिस ने
कार्यक्रम में गीतों की प्रस्तुति देने के लिए भजन, गीत गायक और कांग्रेस नेता दिलीप सारंगी मौजूद थे। इनके साथ आई म्यूजिशियन की टीम को पुलिस ने रोक लिया। मंच से लगातार इस बात को कहा जाता रहा कि कलाकारों को अंदर आने दें, लेकिन सुरक्षा कारणों से पुलिस ने काफी देर तक म्यूजिशियंस को रोके रखा। करीब आधे घंटे बाद ही उनकी एंट्री मुमकिन हो पाई और कलाकार अंदर जा पाए।

CM बोले- कश्मीर लग रहा है खारुन का तट
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहुंचे तो सजी धजी नाव को देखकर खुश हुए कहा कि यहां की नावों को देखकर लग रहा है कि कश्मीर की डल झील सा नजारा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *