रायपुर वॉच

मैट्स में “दी डिज़ाइन फेस्ट-2022” का आगाज विद्यार्थियों के कौशल का शानदार प्रदर्शन…मैट्स स्कूल ऑफ़ फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्नोलॉजी विभाग का आयोजन

रायपुर। मैट्स यूनिवर्सिटी के पंडरी स्थित सिटी कैम्पस में स्कूल ऑफ़ फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्नोलॉजी विभाग द्वारा “दी डिज़ाइन फेस्ट-2022” का शनिवार को शुभारंभ हुआ। 30 जुलाई से 1 अगस्त तक आयोजित तीन दिवसीय प्रदर्शनी में विभाग के विद्यार्थियों के कौशल का शानदार प्रदर्शन किया गया है।
मैट्स स्कूल ऑफ़ फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्नोलॉजी विभाग की विभागाध्यक्ष  परविंदर कौर ने बताया कि प्रदर्शनी का शुभारम्भ छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग की सचिव डॉ. मनीषा शुक्ला और मैट्स विश्वविद्यालय की मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीमति प्रियंका पगरिया ने किया। इस अवसर पर मैट्स विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री गजराज पगारिया, कुलपति प्रो. के.पी. यादव, महानिदेशक श्री प्रियेश पगारिया, उपकुलपति श्रीमती दीपिका ढांड, कुलसचिव श्री गोकुलानंदा पंडा सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थीगण उपस्थित थे।
इस प्रदर्शनी में बैचलर ऑफ़ साइंस इंटीरियर डिजाइनिंग के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों ने 14 अलग-अलग प्रॉडक्ट निर्मित कर प्रदर्शित किये हैं जो अद्भुत और अलौकिक हैं। इनमें लोअर सिटिंग, झूला, फॉल सीयलिंग, वूडेन आर्ट, प्लांट कंटेनर, सेल्फी जोन पेंटिंग प्रमख रूप से शामिल हैं। इसी तरह बैचलर ऑफ़ साइंस इंटीरियर डिजाइनिंग के द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों ने लकड़ी, कबाड़ और बोटल के अनुपयोगी समान का उपयोग करके एक वूड कैफ़े डिज़ाइन किया है जो सभी के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। कैफ़े बनाने में विद्यार्थियों ने लकड़ी, रस्सी, पेपर रोल्स का इस्तेमाल किया किया है। लकड़ी से अनेक वस्तुओं का निर्माण भी किया गया है। इन विद्यार्थियों द्वारा एक मंच भी बनाया गया है जिसमे स्टैंड अप कॉमेडियन या संगीत के कार्यक्रम आयोजित करवाए जा सकते हैं।
बैचलर ऑफ़ साइंस इंटीरियर डिजाइनिंग के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों लैंडस्केप डाइनिंग टेबल एवं बैठने के लिए आकर्षक टेबल एवं कुर्सी का निर्माण किया है। दी डिज़ाइन फेस्ट-2022 में प्रदर्शित की गई सभी वस्तुओं का निर्माण विद्यार्थियों ने किया है। व्यावसायिक पाठ्यक्रम में पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों के लिए रोजगार एवं व्यवसाय के बहुत सारे रास्ते खुल रहे हैं।
विद्यार्थियों ने कोसा सिल्क में ब्राइडल वेयर एवं ड्रेसेस भी प्रदर्शित की है। छत्तीसगढ़ी थीम, गुजरात की प्रसिद्ध टाई और डाई कलाकारी, मुराल एवं पेंटिंग के माध्यम से प्रकृति के चल चित्र, नीट वेयर में बुनाई से निर्मित विभन्न प्रकार के वस्त्र, राजस्थानी ड्रेसेस आदि का प्रदर्शन भी किया गया है। उद्घाटन अवसर पर समस्त सम्मानीय अतिथियों ने विद्यार्थियों के कार्यों को सराहना करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *