main story

भूल से भी पर्स में ना रखें ये 5 चीजें, रुपये-पैसों के लिए रहेंगे परेशान अच्छी-खासी सैलरी के बावजूद हाथ में नहीं रुकेगा पैसा 

Vastu Tips: अक्सर देखा जाता है कि अच्छी-खासी सैलरी के बावजूद कुछ लोग परेशान रहते हैं। हमेशा किसी न किसी से उधार रुपए लेते रहते हैं। उनकी जिंददी हमेशा तंगहाली में ही गुजरती रहती है। आज हम इसी बात पर चर्चा कर रहे हैं। कुछ लोग अपने पर्स में जाने-अनजाने ऐसी अशुभ चीजें रख लेते हैं जिसके कारण उनके ऊपर नकारात्मक ऊर्जा का दबाव बढ़ जाता है। यही कारण है कि इन लोगों की जेब हमेशा खाली रहती है।

5 ऐसी चीजें हैं जिन्हें पर्स में रखने से हमें आर्थिक तंगी घेरती है। पर्स में कभी भी पैसों को बेढंगेपन से ना रखें। नोटों को यूं ही मोड़कर पर्स में रखने की बजाए उन्हें अच्छे से गिनकर, व्यवस्थित ढंग से पर्स में रखें। आपको हमेशा पता होना चाहिए कि आपके पर्स में कितने रुपये हैं। पैसों को मोड़-तरोड़कर रखने की बुरी आदत हमें आर्थिक मोर्चे पर कमजोर बनाती हैं।

 

पूर्वजों की तस्वीर : कुछ लोगों अपने पूर्वजों की तस्वीरों को पर्स में सहेजकर रखते हैं। पूर्वजों का मान-सम्मान बहुत आवश्यक है। उनके आशीर्वाद के बिना हम जीवन में आर्थिक समृद्धि की कल्पना भी नहीं कर सकते। लेकिन उन्हें पर्स में रखना सही नहीं है। उन्हें पर्स की जगह घर में एक उचित स्थान दें। बेहतर होगा कि आप उन्हें घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में स्थापित करें।

 

बिल या ईएमआई पेपर : हमें अपने पर्स में कभी भी बिल या ईएमआई पेपर जैसी चीजें नहीं रखनी चाहिए। फोन बिल, इलेक्ट्रिसिटी बिल या घर खर्च की लिस्ट भी पर्स में ना रखें। अगर हम इसे रद्दी के रूप में देखें तो ये राहु का रूप होती हैं जो बेवजह के खर्चे बढ़ाता है।

 

चाबी: कुछ लोग अपने पर्स में चाबी रखते हैं, जो कि सही नहीं है। पर्स में चाबी रखने से व्यापार और धन में नुकसान होने लगता है। वास्तु के अनुसार, पर्स में सिक्कों के अलावा किसी अन्य धातु को जगह देने से नकारात्मक ऊर्जा जन्म लेती है और मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं। इसलिए चाबी रखने के लिए एक उचित स्थान बनाएं।

 

देवी-देवताओं की तस्वीर : कुछ लोग अपने पर्स में देवी-देवताओं की तस्वीरें लेकर साथ घूमते हैं। ऐसा करना बिल्कुल भी ठीक नहीं है। ऐसा करने से मां लक्ष्मी रुष्ट हो सकती हैं। देवी-देवताओं को पर्स की बजाए घर और मन में स्थान दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *