रायपुर वॉच

किसान संघर्ष समिति राजापड़ाव क्षेत्र के बैठक में हुआ किसानों एवं व्यापारी के बीच में आपसी सहमति

  • मक्का खरीदी करने वाले थोक व्यापारी किसानो को 15 दिन के भीतर में करना होगा भुगतान नही तो लगेगा ब्याज
  • व्यापारी और सैकड़ों किसानों के बीच में किसानी मुद्दों पर हुआ खुला चर्चा

पुलस्त शर्मा/मैनपुर : विकासखंड मुख्यालय मैनपुर के राजापडा़व क्षेत्र के ग्राम गोना में किसानों के हित में गठित संगठन किसान संघर्ष समिति के द्वारा 28 अक्टूबर दिन गुरूवार को विशाल बैठक का आयोजन किया गया।जिसमें क्षेत्र भर के 8 ग्राम पंचायतो से सैकड़ों किसान एवं थोक व्यापारियों के बीच मे समस्या निराकरण के लिए खुला चर्चा करते हुए कुछ मुद्दों पर आपसी सहमति बनाई गई। राज्य सरकार के अधीन मुद्दों पर भी चर्चा करते हुए राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन नवंबर में आयोजित होने वाली है। उसमें क्षेत्र के सैकड़ों किसानों के द्वारा शामिल होने की बात कहते हुए 65 गांव के हर परिवारो द्वारा स्वेच्छा से 50 रूपयें जमा करते हुए स्वयं के खर्चों से राजधानी रायपुर जाने की सहमति बनी है। जिसकी तैयारी किसान संघर्ष समिति राजापडा़व क्षेत्र के मुखियाओ के द्वारा किया जा रहा है।
व्यापारियों एवं किसानों के मध्य कुछ मुद्दों पर बनी सहमति
किसानों के द्वारा उत्पादित मक्का धान उड़द कुलथी सरसों सहित दलहन तिलहन के वाजिब दाम समस्त व्यापारियों के द्वारा एकरूपता करते हुए वास्तविक जानकारी, किसानों के समस्या व्यापारियों के द्वारा सुझाव आदान-प्रदान के लिए व्यापारी किसान संघ के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बनाने की बातों पर सहमति बनी है। इसके साथ ही किसानों के उत्पादित फसलों को खरीदी करने वाला व्यापारियों के द्वारा 20 दिन के अंतर्गत भुगतान करना होगा अन्यथा किसानों को ब्याज राशि सहित भुगतान व्यापारियों के द्वारा किया जायेगा, जिन व्यापारियों से खाद बीज दवाई किसान लेते हैं उसका भी समया नुसार भुगतान करने होंगे। व्यापारियों के द्वारा किसानों से चक्र वृद्धि ब्याज वसूली करते हैं। अब ब्याज ही देने होंगे ज्यादा समस्या होने पर किसान संघर्ष समिति के बैठक में फैसला होगा व्यापारियों के द्वारा किसानों को खरीदी किया गया सामग्रियों का बिल उपलब्ध करवाएंगे। मौसमी आधारित व्यापारियों के द्वारा कुछ दिन के लिए क्षेत्रों में आकर धान मक्का खरीदी करके चले जाते हैं। उनसे नगद भुगतान या क्षेत्र में पाबंदी लगाने की बात बैठक में कही गई है। बरसों से क्षेत्र में आ रहे व्यापारियों के साथ में किसानों का रिश्ता मजबूत एवं सुख दुख के समय भावनात्मक होती है। जिसके कारण उन्हीं व्यापारियों से खरीदी बिक्री करने की बात कही गई। किसानों से मक्का लेने वाले व्यापारियों के द्वारा साल दो साल होने के बाद भी किसानों को भुगतान नहीं करने वाले व्यापारियों से सावधान रहते हुए फैसला किसान संघर्ष समिति के बैठक में किए जाने का भी निर्णय सैकड़ों किसानों के द्वारा लिया गया। बैठक में मुख्य रूप से किसान संघर्ष समिति के मुखिया दलसू राम मरकाम,अर्जुन सिंह नायक, जनपद पंचायत सभापति घनश्याम मरकाम, जनपद सदस्य प्रतिनिधि श्री राम मरकाम, ग्राम पंचायत अड़गड़ी सरपंच कृष्णा कुमार नेताम, सरपंच प्रतिनिधि शोभा तिलक राम मरकाम, ग्राम पंचायत गोना सरपंच सुनील कुमार मरकाम, ग्राम पंचायत कोकड़ी सरपंच सखाराम मरकाम, ग्राम पंचायत भूतबेड़ा सरपंच अजय कुमार नेताम, ग्राम पंचायत कोचेंगा सरपंच प्रतिनिधि दीना चंद मरकाम, ग्राम पंचायत गरहाडी़ह सरपंच प्रतिनिधि गणेश राम नेताम, ग्राम पंचायत अड़गडी उप सरपंच मंगलू राम मरकाम, क्षेत्रीय मुखिया दशरथ राम नेताम, भगवान राम,श्याम लाल नेताम, सुखनाथ, रूप सिंह, महेश सूर्यवंशी, चरण सिंह, मेहत्तर राम नेताम, सिरबी राम मरकाम, जय सिंह, फूल सिंह,आनंदराम, चंदन मरकाम, अमीरचंद, बोधन सिंह, सुरेश कुमार, लक्ष्मीनाथ, धनराज मरकाम, चौतू राम, बृजलाल, आप्रभु हरपाल सहित सैकड़ों किसानों के साथ ही क्षेत्र के व्यापारी मोहम्मद असगर रायगढ़ अमित ट्रेडर्स गौरगांव, मनोज मिश्रा शोभा, दास भूतबेड़ा, दिलीप ट्रेडर्स साँकरा,खेमचंद जैन नगरी, कैलाश नेताम, राजू नाग शिव साहू भोथली विशेष रूप से शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *