प्रांतीय वॉच

हितग्राहियों को बताए योजनाओं का लाभ लेकर आय में वृद्धि करे

अक्कू रिजवी/ भानुप्रतापपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना “नरवा गरवा घुरवा अऊ बारी को लेकर भानुप्रतापपुर में समीक्षा बैठक की गई। जिसमें मुख्य फोकस पशुधन पर किया गया। कृषकों को आत्मनिर्भर  बनाने हेतु कृषि आधारित पशुधन को छत्तीसगढ़ सरकार अत्यधिक फोकस कर रही है,ताकि यहां के  किसान डेयरी, सुकर पालन, बकरी पालन, पोल्ट्री ब्यवसाय, अंडा उत्पादन, शासन योजनाओं के लिए अनुदान भी दे रही है, जिसे व्यवसायिक रुप से अपना कर  पशुपालकआर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकते है। यह जानकारी दे।। बैठक में उप संचालक डा. सत्यम मित्रा ने कहा आकांक्षी जिला कांकेर में शासन के मंशानुरूप लगातार ब्लाक मुख्यालयों में विभागीय अमला की बैठक लेकर निरंतर नि:शुल्क कृत्रिम गर्भाधान में प्रगति लाने हेतु विभागीय अमला को कड़ा निर्देश दिये हैं, कृत्रिम गर्भाधान से कृषक उन्नत नस्ल के गाय, बैल, भैंस प्राप्त कर आर्थिक रुप से सुदृढ़ हो सकते हैं,जिन संवेदनशील क्षेत्रों में कृत्रिम गर्भाधान की सुविधा नहीं है,वहा नि: शुल्क सांड़  प्रदान करने हेतु प्रकरण बनाने के निर्देश उन्होंने दिये हैं,साथ ही विभाग की जितनी भी गतिविधियां हैं, वो सब गौठान में आयोजित करने के निर्देश दिए हैं।  बैठक में डा पीएल सरल, डा.देवकुमार कलिहारी, डा टिकेश्वर ठाकुर, डॉ पीवी विश्वकर्मा, डा.आकांक्षा गोटा, डा.विजया नागवंशी, डा.लक्ष्मी टांडिया, सुंदर दास कुलदीप तथा अंतागढ़,दुर्गूकोंदल, भानुप्रतापपुर और पखांजूर ब्लाक के सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *