रायपुर वॉच

RTO उड़नदस्ता टीम पर हमला, दुर्ग में टैक्स जमा नहीं होने पर अफसरों ने की थी गाड़ी जब्त, जान बचाकर पुलिस को किया फोन

दुर्ग : दुर्ग RTO उड़नदस्ता टीम ने टैक्स न जमा करने पर एक ट्रक को जब्त किया तो ट्रांसपोर्टर अपने गुंडे लेकर पहुंच गया। उसने उड़नदस्ता टीम के ऊपर हमला करने की कोशिश की और मारपीट करने लगा। बाद में उड़नदस्ता टीम के सिपाही पीछे हट गए और ट्रांसर्पोटर गाड़ी लेकर भाग निकला। इसके बाद बुधवार को इसकी शिकायत दुर्ग कोतवाली में दर्ज कराई गई है।उड़नदस्ता प्रभारी विकास शर्मा ने शिकायत में बताया कि वह अपनी टीम के साथ टैक्स नहीं जमा करने वाले वाहनों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे। इस दौरान रायपुर नंबर की एक गाड़ी का 3 लाख 23 हजार 773 रुपए टैक्स बकाया मिला। इस पर उन्होंने वाहन मालिक संतराबाड़ी निवासी संदीप सिंह कंडा को नोटिस जारी कर टैक्स अदा करने का निर्देश दिया। पेशे से ट्रांसपोर्टर होने के बाद भी संदीप सिंह ने टैक्स जमा नहीं किया और वाहन चलाता रहा। विकास शर्मा अपनी उड़नदस्ता टीम के साथ 11 अक्टूबर दोपहर तीन बजे वाहन जब्त करने पहुंचे। विकास शर्मा ट्रक को जब्त कर दुर्ग परिवहन विभाग कार्यालय ला रहे थे। इसी बीच गाड़ी मालिक आधा दर्जन अपने साथियों के साथ पहुंचा। उसने दोपहर 3.30 बजे उड़नदस्ता टीम को दुर्ग महिला कालेज के पास रोक लिया। RTO के सिपाही अशोक आडिल ने उसे सामने से हटने के लिए बोला तो संदीप व उसके साथी धक्का मुक्की करने लगे और उसे ट्रक से जबरदस्ती नीचे उतार दिया। इसके बाद उन्होंने उड़नदस्ता टीम के साथ मारपीट किया और ट्रक लेकर चला गया। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि ट्रांसपोर्टर संदीप कंडा काफी गुस्से में था। वह परिवहन विभाग के सिपाहियों से गाली गलौज कर उन्हें मारने के लिए दौड़ रहा था। आखिर में आरटीओ की उड़नदस्ता टीम ने अपनी जान बचाना ही उचित समझा। उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन किया। जब तक पुलिस आती उससे पहले ही संदीप अपने गुंडों के बल पर गाड़ी छुड़ा कर ले गया। बाद में उड़नदस्ता प्रभारी विकास शर्मा ने कोतवाली थाने जाकर संदीप कंडा और उसके साथियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने और लोक सेवक को अपने कर्तव्य के निर्वाहन में हमला करने के उद्देश्य से भय में डालकर मारपीट करने की शिकायत दर्ज कराई।​

आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर
इस तरह दिनदहाड़े एक शासकीय सेवक और उसकी टीम के ऊपर हमला करना और मारपीट करने वाला आरोपी संदीप कंडा अभी भी खुलेआम घूम रहा है। 11 अक्टूबर की घटना के लगभग एक सप्ताह बाद पहले तो उड़नदस्ता प्रभारी विकास शर्मा ने थाने जाकर मामला दर्ज कराया। अब दुर्ग कोतवाली पुलिस उसे गिरफ्तार कर वाहन को जब्त न करने की जगह जांच-जांच खेल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *