प्रांतीय वॉच

लंबित प्रकरणों को समय-सीमा के भीतर निराकरण करने के दिये दिये निर्देश

आफताब आलम/बलरामपुर : संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर श्री इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल ने विभिन्न विभागों में लंबित प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से लंबित प्रकरणों को समय-सीमा के भीतर निराकरण करने के निर्देश दिये। बैठक में कलेक्टर ने विभिन्न विभागों में लंबित हाई कोर्ट, सिविल कोर्ट, जन शिकायत पोर्टल, मुख्यमंत्री जनचौपाल में तीन माह से ऊपर सभी लंबित प्रकरणों को शीघ्र निराकरण के निर्देश दिये। कलेक्टर ने भू-अर्जन के लंबित प्रकरणों, जल जीवन मिशन के अंतर्गत नल-जल कनेक्शन की अद्यतन स्थिति, आंगनबाड़ी केन्द्रों, शालाओं, स्वास्थ्य केन्द्रां, छात्रावास-आश्रमों, पंचायत भवनों में रैनिंग वाटर की स्थिति, जिले में बनाये जा रहे आयुष्मान कार्ड की जानकारी, भूमिहीन कृषि मजदूरी के सर्वे की तैयारी सहित अन्य विषयों पर विस्तार से जानकारी ली। बैठक में कलेक्टर ने स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल शंकरगढ़, राजपुर व रघुनाथनगर हेतु शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया की प्रगति के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी से जानकारी ली तथा भर्ती प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की अनियमितता न हो इस पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। उन्होंने राजीव गांधी शिक्षा मिशन के उप अभियंता से अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में चल रहे निर्माण कार्यों के प्रगति की जानकारी ली तथा सभी निर्माण कार्यों को गुणवत्तापूर्ण करते हुए समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री इंद्रजीत सिंह ने आगामी धान खरीदी हेतु किये गये तैयारी की जानकारी खाद्य अधिकारी एवं जिला विपणन अधिकारी से ली एवं समय पर सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने महिला बाल विकास, स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी से संबल योजना के तहत् चल रहे गतिविधियों के प्रगति की जानकारी ली। बैठक में श्रम विभाग तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा विभाग में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दी गयी। तत्पश्चात् योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन हेतु अधिकारियों से चर्चा की गयी। बैठक में अपर कलेक्टर श्री एस.एस. पैंकरा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुशील कुमार नायक, डिप्टी कलेक्टर श्री दीपक निकुंज सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

विशेष पिछड़ी जनजातियों में सामाजिक जागरूकता पैदा करने अनुभाग स्तरीय समिति गठित
बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में कुसमी, शंकरगढ़, राजपुर व बलरामपुर में पहाड़ी कोरवा विशेष पिछड़ी जनजाति तथा रामचन्द्रपुर एवं वाड्रफनगर विकासखण्ड में पण्डो विशेष पिछड़ी जनजाति निवासरत हैं। विभिन्न विभागों द्वारा संचालित शासकीय योजनाओं का लाभ विशेष जनजाति को दिलाने, समाज की मुख्य धारा में लाने व आधार स्तर पर योजनाएं संबंधित मांग, शिकायत व समस्या के निराकरण करने के उद्देश्य से संबल कार्यक्रम के तहत् विशेष पिछड़ी जनजाति समाज के स्वेच्छा से सेवा देने वाले व्यक्तियों को सम्मिलित करते हुए जिले के सभी अनुभागों में अनुभाग स्तरीय समिति का गठन किया गया है।
सभी विकासखण्ड हेतु गठित अनुविभाग स्तरीय समिति में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास, मण्डल संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग तथा समाज के प्रतिष्ठित दो एवं तीन सदस्यों को समिति में शामिल किया गया है। अनुभाग स्तरीय समिति में सम्मिलित विशेष पिछड़ी जनजाति के सदस्य अनुभाग के पिछड़ी जनजाति के मांग, समस्या व शिकायत से समिति को अवगत करायेंगे। मण्डल संयोजक व्यक्ति द्वारा प्रस्तुत मांग, समस्या व शिकायत को पंजी में पंजीबद्ध कर निराकरण हेतु अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को प्रस्तुत करेंगे। इसी प्रकार समिति द्वारा माह में कम से कम दो बार विशेष पिछड़ी जनजाति गांव में कैम्प आयोजित कर समस्या का निराकरण करेंगे तथा विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर चिकित्सकीय इलाज करेंगे। समिति के शेष सदस्यों द्वारा समाज में व्याप्त भ्रांतियों, कुप्रथाओं पर चर्चा करेंगे व जनजागरूकता का कार्य करेंगे।

शिशु संरक्षण माह का शुभारंभ: कार्यक्रम का आयोजन समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों व नियमित टीकाकरण सत्रों में किया जायेगा
शिशु संरक्षण माह विटामिन-ए अनुपूरक कार्यक्रम 24 अगस्त से 28 सितम्बर 2021 तक प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को जिले के अंतर्गत समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों व नियमित टीकाकरण सत्रों में आयोजन किया जा रहा है। जिसका शुभारंभ आज जिला अस्पताल बलरामपुर में नगर पालिका अध्यक्ष श्री गोविन्द राम की अध्यक्षता में किया गया। इस कार्यक्रम के अंतर्गत 9 माह से 5 वर्ष के सभी बच्चों को विटामिन ए की खुराक छः माह के अन्तराल पर पिलाना, 6 माह से 5 वर्ष के सभी बच्चों के लिये सप्ताह में 2 बार आयरन सीरप पिलाना, नियमित टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों को टीका लगाना, 5 वर्ष तक के बच्चों का वजन कराना, अति कुपोषित बच्चों का संदर्भन एवं उपचार पोषण पुनर्वास केन्द्रों, अस्पताल में करवाना इत्यादि स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बंसत कुमार सिंह ने आमजनता से अपील की है कि उक्त स्वास्थ्य सेवाओं का अधिक से अधिक लाभ लें। षिषु संरक्षण माह कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर वार्ड पार्षद श्री संजीत कुमार सिंह, सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक डॉ आर.के. त्रिपाठी, जिला टीकाकरण अधिकारी रबि लिंकन बड़ा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री स्मृति एक्का, खण्ड चिकित्सा अधिकारी हरिशंकर मिश्रा सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी एवं आमजनता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *