प्रांतीय वॉच

अंतिम समय मे लिया गया मनेंद्रगढ़ को जिला बनाने का निर्णय, हड़बड़ी के कारण नाम मे हुई त्रुटि: डॉ विनय

  • मनेंद्रगढ़ जिले में चिरिमिरी, भरतपुर का नाम जुड़ने के बाद विधायक डॉ. विनय का चिरिमिरी में हुआ भव्य स्वागत.
  • डीजे के साथ पूरे चिरिमिरी में निकाली गई रैली, जगह जगह आतिशबाजी व नारो के साथ हुआ स्वागत, हल्दीबाड़ी में किया गया विधायक डॉ. विनय का नागरिक अभिनंदन

चिरमिरी/कोरिया (भरत मिश्रा)। 15 अगस्त को केवल तीन जिलों की घोषणा होनी थी जिसमे मनेंद्रगढ़ शामिल नही था । अंतिम समय मे मनेंद्रगढ़ को जिला बनाने का निर्णय लिया गया जिसके कारण नाम मे त्रुटि हुई । उपरोक्त बाते मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने मनेंद्रगढ़ जिले में चिरिमिरी और भरतपुर का नाम जोड़े जाने के बाद हल्दीबाड़ी में हुए नागरिक अभिनंदन के दौरान कही । डॉ. विनय ने उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए आगे कहा कि विधायक बनने के बाद जब वे पहली बार विधानसभा में पहुचे तो उन्होंने चिरिमिरी मनेंद्रगढ़ जिला बनाने की मांग उठाई । तब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें अपने केबिन में बुलाकर कहा था कि कोरिया केवल 3 विधानसभा का छोटा जिला है । वहां नया जिला कैसे बन सकता है ? आप नए विधायक हो । अपने क्षेत्र की बिजली, पानी व सड़क के मुद्दे उठाओ । इसके बाद मुख्यमंत्री जब चिरिमिरी आये तो उन्होंने गोदरीपारा के लाल बहादुर स्टेडियम में सार्वजनिक रुप से जिले की मांग उठाते हुए कहा कि यह इस क्षेत्र के लोगो की 38 साल पुरानी मांग है । बीते ढाई साल में उन्होंने कई अलग अलग मंच से इस मांग को उठाया । पिछले 2 या 3 अगस्त को जब नए जिलों की रूपरेखा तैयार हो रही थी तो वे और गुलाब कमरों किसी काम से मुख्यमंत्री के कार्यालय पहुँचे । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उनसे पूछा कि तुम्हारे जिले की मांग में कोई दम है ? जिस पर उन्होंने कहा कि यह मांग चिरिमिरी और मनेंद्रगढ़ के लोगो के मान सम्मान से जुड़ा हुआ है । इसके बाद भी उन्हें यकीन नही था कि नए घोषित होने वाले जिलों में चिरिमिरी मनेंद्रगढ़ का नाम होगा । 15 अगस्त को जब जिले की घोषणा हुई तो जल्दबाजी में लिए गए इस निर्णय में चिरिमिरी का नाम छूट गया । उनके सामने दुविधा की स्थिति थी । एक तरफ नया जिला बनने की खुशी थी तो दूसरी तरफ चिरिमिरी का नाम छूटने का गम । उन्होंने बैकुंठपुर से ही सीएम को फोन कर अपना विरोध दर्ज कराया । जिस पर सीएम ने उन्हें नाम जोड़े जाने का आश्वासन दिया । इसके बाद वे मनेंद्रगढ़ वासियों की खुशी में शामिल होने मनेंद्रगढ़ रवाना हुए । डॉ. विनय ने आगे कहा कि जन्म कुरसियां (जो अब नही है) के एक कच्चे मकान में हुआ था । उनकी इच्छा थी कि वे अंग्रेजी माध्यम के स्कूल में पढ़े । तब चिरिमिरी में केवल एक अंग्रेजी माध्यम का स्कूल था ‘सेंट्रल स्कूल’ । लेकिन उसमें उनका एडमिशन नही हुआ । आगामी पीढ़ी को यह दर्द न सहना पड़े, इसलिए उन्होंने चिरिमिरी में आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल की मांग की और खुलवाया । इसके बाद कुरसियां के विस्थापन होने पर उनका परिवार गोदरीपारा में शिफ्ट हुआ । जब वे कक्षा 7 वीं में पढ़ते थे तो उन्हें दुबछोला घाट के पास स्थित तुर्रे से काँवर में अपने घर के लिए पानी लाना पड़ता था । इसलिए उन्हें पानी नही मिलने का दर्द मालूम है । यही कारण है कि जब गोदरीपारा में पानी की किल्लत हुई तो उन्होंने जीएम के घर का नल कनेक्शन काटा ।
डॉ. विनय ने मंच से आगे कहा कि वे चिरिमिरी को छतीसगढ़ के पर्यटन के नक्शे में लाना चाहते है इसलिए यहां एडवेंचर पार्क की मांग करते है । वे अपनी गाड़ी में एसईसीएल से डीजल नही डलाते, तभी वे बर्खास्त 32 कालरी कर्मियों की लड़ाई जीएम व सीएमडी से लड़कर उनका हक दिलवा पाते है । श्री जायसवाल ने आगे कहा कि जिले का नाम हसदेवांचल, वनांचल या कोयलांचल भी हो सकता था । लेकिन क्षेत्र के लोगो की अस्मिता को देखते हुए उन्होंने मनेंद्रगढ़ चिरिमिरी भरतपुर नाम पर अपनी सहमति दी । मंच को संबोधित करते हुए चिरिमिरी की महापौर श्रीमती कंचन जायसवाल ने कहा कि वे अभी राजनीति सीख रही है । जिला घोषित होने के बाद वे मनेंद्रगढ़ के लोगो की खुशी में शामिल होने विधायक डॉ. विनय की पत्नी के रूप में गई थी न कि चिरिमिरी के महापौर के रूप में । मंच को नगर पालिक निगम की सभापति गायत्री बिरहा ने भी संबोधित किया ।नए घोषित मनेंद्रगढ़ जिले में चिरिमिरी व भरतपुर का नाम जुड़ने के बाद विधायक डॉ. विनय जायसवाल के चिरिमिरी पहुंचने पर सोनवानी नाका में युवा कांग्रेस ने उनका आतिशबाजी व रंग गुलाल से भव्य स्वागत किया । इसके बाद चिरिमिरी जिला बनाओ मंच ने विधायक निवास में जाकर उनका सम्मान किया व जिला मुख्यालय पर चर्चा की । अपरान्ह 2 बजे विधायक डॉ. विनय जायसवाल गाजे बाजे के साथ नगर भ्रमण पर निकले, जहां गोदरीपारा के गुरुद्वारा चौक, आजाद नगर, बरतुंगा, छोटा बाजार के शंभु चौक व मारिया स्कूल, बड़ा बाजार के दुर्गा पंडाल व भाजपा कार्यालय के पास आम नागरिकों ने उनका आतिशबाजी कर व फूल मालाओं से उनका भव्य स्वागत किया । इसके बाद वे डोमनहिल के दादू लाहिड़ी चौक पहुंचे और दादू लाहिड़ी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया । इसके बाद डोमनहिल बाजार, गेल्हापानी, पोंडी कालरी व हल्दीबाड़ी के 6 नम्बर गोलाई में आम नागरिकों ने उनका स्वागत किया । इसके हल्दीबाड़ी के नहाराय पेट्रोल पंप के पास उनका नागरिक अभिनंदन किया गया । यहां उन्होंने मंच से नागरिको को संबोधित किया । इसके बाद वे चिरिमिरी जिला बनाओ मंच के मंच पर गए जहां उनका भव्य स्वागत हुआ । इसके बाद व्यापार संघ ने हल्दीबाड़ी यातायात चौक में विधायक डॉ. विनय जायसवाल एवं महापौर कंचन जायसवाल को लड्डुओं से तौला ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *