प्रांतीय वॉच

जिला शिक्षा अधिकारी के फरमान को ठेंगा दिखाते स्कूली शिक्षक है स्कूल से नदारत 

  • प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में तीन तीन शिक्षक पदस्थ होने के बावजूद एक एक शिक्षक के भरोसे संचालित हो रहा है स्कूल 

आफ़ताब आलम/बलरामपुर : बलरामपुर विकास खण्ड के झलरिया प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला में तीन तीन शिक्षक की नियुक्ति की गई है बावजूद इसके स्कूल में एक एक शिक्षक के भरोसे झलरिया प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला संचालित हो रहा है | विदित हो कि बलरामपुर जिले में जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा फरमान जारी की गई है कि मोहल्ला क्लास में सत प्रतिशत शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य हो ताकि कोविड19 में स्कूल बंद होने के वजह से बच्चो का शिक्षा दीक्षा काफी प्रभावित हुआ था जिसकी भरपाई करने प्रति दिन मोहल्ला क्लास के माध्यम से की जानी है जिसको लेकर शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई है मगर लापरवाह शिक्षकों पर अधिकारियों के फरमान का कोई असर नही दिखाई दे रहा है और अधिकारियों के फरमान को ठेंगा दिखा स्कूल से शिक्षक नदारद रह रहे है | वही प्राथमिक शाला झलरिया से प्रकाश टोप्पो एवं वीरेंद्र एक्का तथा माध्यमिक शाला से नेहरू लाल सिंग एवं अर्जुन यादव स्कूल से नदारद है जिसकी सुध लेने की फुर्सत विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी को भी नही है | वही जिला शिक्षा अधिकारि का मनसा है कि अपने जिले एवं विकास खण्ड में मोहल्ला क्लास के माध्यम से बच्चो का कोर्स कम्प्लीट हो सके मगर विडम्बना तो यह है कि क्या इन लापरवाह शिक्षकों के भरोसे नवनिहाल बच्चो का भविष्य सवारा जा सकता है क्या शिक्षकों के स्कूल से नदारद रहने से बच्चो का कोर्स कम्प्लीट हो सकता है | जरूरत है ऐसे लापरवाह शिक्षकों पर जिला अधिकारियों द्वारा कठोर कार्यवाही की ताकि शिक्षा ब्यवस्था जिले में दुरुस्त हो सके | इस संबंध में हमारे जिला बीयूरो चीफ आफताब आलम ने जब विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी जय गोविंद तिवारी से चर्चा कर जानकारी ली तो उन्होंने कहा कि मुझे शिक्षकों के नदारद होने की जानकारी प्राप्त हुई है मेरे द्वारा संकुल प्रचार्य को जांच हेतु भेजा गया है जांच रिपोर्ट आने के बाद नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *