देश दुनिया वॉच

3 लाख रुपए के इनामी नक्सली ने किया सरेंडर, कई वारदातों में था शामिल

जगदलपुर/दंतेवाड़ा : दंतेवाड़ा पुलिस के द्वारा लोन वर्राटू यानी घर वापस आइए अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान से प्रभावित होकर शुक्रवार को हार्डकोर इनामी नक्सली महेश उर्फ मोटू मड़कामी (20) ने दंतेवाड़ा के SP डॉ अभिषेक पल्लव के सामने आकर सरेंडर किया है। मोटू नक्सलियों के माटवाड़ा LOS, लोकल आर्गेनाइजेशन स्क्वॉड के डिप्टी कमांडर के पद पर सक्रिय था। इस पर छत्तीसगढ़ शासन की तरफ से 3 लाख रुपए का इनाम भी घोषित है। दंतेवाड़ा के SP ने बताया कि मोटू के सरेंडर के बाद इलाका शांत होगा और कई खुलासे होंगे।

भैरमगढ़ इलाके में था सक्रिय
पुलिस के अनुसार, महेश उर्फ मोटू पिछले कई सालों से नक्सलियों के बाल संघम से जुड़कर काम कर रहा था। नक्सली इसके काम के प्रति तेज दिमाग और फुर्ती देखते हुए इसे भैरमगढ़ एरिया कमेटी अंतर्गत माटवाड़ा LOS डिप्टी कमांडर के पद की जिम्मेदारी दिए थे। पिछले कुछ सालों से मोटू इसी इलाके में सक्रिय रह कर तांडव मचा रहा था। हत्या, लूट, आगजनी, सड़क काटना जैसे कई काम किया करता था। साथ ही साल 2018 में हुई तिमेनार मुठभेड़ में भी शामिल था। हालांकि इस मुठभेड़ में जवानों ने 8 नक्सलियों को ढेर किया था।

अब तक 404 नक्सली कर चुके हैं सरेंडर
दंतेवाड़ा पुलिस के द्वारा लगभग साल भर पहले लोन वर्राटू यानी घर वापस आइए अभियान की शुरुआत की गई थी। इस अभियान से प्रभावित होकर अब तक 404 नक्सली हथियार डाल कर मुख्यधारा में लौट आए हैं। सरेंडर करने वालों में 108 इनामी नक्सली भी शामिल हैं। इनमें कई कमांडर स्तर के नक्सली भी हैं जिन्होंने नक्सलवाद का दामन छोड़ दिया है। इधर दंतेवाड़ा देश का पहला ऐसा जिला है जहां पुलिस के द्वारा चलाए जा रहे किसी अभियान से प्रभावित होकर 1 साल में 100 से ज्यादा इनामी नक्सलियों का सरेंडर हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *