प्रांतीय वॉच

ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को देना होगा जुर्माना…रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय में बैठने का लगेगा चार्ज, देने होंगे 30 रुपये प्रति घंटे

बिलासपुर: रेलवे स्टेशन पर अब ट्रेन का इंतजार करना महंगा पड़ेगा। अब इसके लिए भी शुल्क देना होगा। जी हां, रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय में बैठकर किसी ट्रेन का इंतजार करने के लिए अब यात्रियों को प्रति घंटे के हिसाब से भुगतान करना होगा। यात्रियों को अब 30 रुपये प्रति घंटे के हिसाब से शुल्क देना होगा।

दरअसल रेलवे प्रतीक्षालय का संचालन प्राइवेट एजेंसी को देने की तैयारी में है। अब तक सिर्फ वीआईपी लॉज में ही 30 रुपये प्रतिघंटा शुल्क लिया जाता था।

रेलवे बोर्ड के संयुक्त निदेशक आशुतोष मिश्रा के पत्र के आधार पर सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह ने नए आदेश से सभी मुख्य वाणिज्य निरीक्षक स्टेशन अधीक्षक को अवगत कराया है। स्लीपर, एसी व अन्य श्रेणी के महिला व पुरुष प्रतीक्षालय का संचालन प्राइवेट एजेंसी को सौंपा जाएगा।

प्रतीक्षालय में बैठकर ट्रेन का इंतजार करने वाले यात्रियों से एजेंसी 30 रुपये प्रतिघंटा शुल्क लेगी। प्लेटफार्म पर यात्रियों को ट्रेन आने से आधा घंटे पहले आने की अनुमति होगी। मुरादाबाद रेल मंडल के मुरादाबाद, हरिद्वार, बरेली, देहरादून रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय को प्राइवेट कंपनी को ठेके पर देने के लिए ई निविदा आमंत्रित करने की तैयारी चल रही है। इसके अलावा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन के विश्रामालय को भी प्राइवेट एजेंसी को दिए जाएंगे।

बता दें कि वर्तमान में रेल मैनुअल के मुताबिक ट्रेन आने से तीन घंटे पहले और जाने के तीन घंटे बाद तक प्रतीक्षालय में यात्रियों को नि: शुल्क ठहरने की सुविधा उपलब्ध है। ट्रेन के देरी से आने पर यह अवधि बढ़ाई जा सकती है। प्रतीक्षालय में यात्रियों को आरक्षण टिकट दिखाना पड़ता है। शुल्क लेने की नई व्यवस्था में ट्रेन के देरी से आने के बारे में कोई व्यवस्था नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *