प्रांतीय वॉच

छात्राओ को न पीने का पानी, न ही शौचालय की व्यवस्था – डॉ. हेमचंद जांगडे

बिलाईगढ़ – बलौदाबाजार जिले के बिलाईगढ़ विकास खण्ड के नगर पंचायत बिलाईगढ़ में शासकीय कन्या शाला में न तो पानी पीने का ब्यवस्था है न ही शौचालय का ब्यवस्था है। यहां परेशानियों का अंबार लगा हुआ है, नए भवन तो बना दिया गया लेकिन नए भवन में पानी की सुविधा है न ही शौचालय की सुविधा जिसके चलते छात्राओ को मजबूरी में मिडिल स्कुल के एक गंदे बोरिंग पम्प से पानी पीना पड़ता है तो वही शौचालय पूरी तरह से जर्जर हो गया है । साफ पानी पीने के लिए छात्राओ को 200 मीटर दूर पानी पीने जाना पड़ता है। इन सभी की इसकी जानकारी डॉ हेमचंद जांगडे अपने जनसंपर्क के दौरान शासकीय कन्या शाला बिलाईगढ़ में देखा कि स्कूल में न तो पीने का पानी ब्यवस्था है और न ही शौचालय का ब्यवस्था है साथ ही स्कूल के आहत निर्माण है जिससे बच्चे अपने आप को असुरक्षित महसूस करते है। इन सभी समस्याओं को स्कूल स्टाफ स्थानीय शिक्षा अधिकारी न तो ध्यान दिया आज तक न ही जिला शिक्षा अधिकारी अवगत करा चुके है लेकिन आज तक इस पर कोई ध्यान नही दिए है । इन सभी अब्यवस्था को शीघ्र ब्यवस्था करने की सरकार से मांग किया है।

मिडिल स्कूल में पढ़ रहे हाईस्कूल के विद्यार्थी

डॉ. हेमचंद जांगडे अपने जनसंपर्क में देखे गए हालातो को बताते हुए बताया कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सूतीउरकुली , दुरुग,नगरदा आदि स्कूलों का संचालन मिडिल स्कूलों में हो रहा है। हाईस्कूल के लिए भवन नहीं होने के कारण नवमी से बारहवीं की कक्षाएं लगे हुए मिडिल स्कूल में संचालित हो रहे है। साथ ही पर्याप्त बैठक सुविधा नहीं होने के कारण छात्र-छात्राओं को खासी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सूतीउरकुली , दुरुग,नगरदा में 9वीं से 12वीं तक की कक्षा मिडिल स्कूल में संचालित हो रही है। लेकिन विडंबना है कि कक्षाओं के संचालन के लिए यहां भवन के अभाव में विद्यालय का संचालन मिडिल स्कूल के भवन में संचालित हो रहे है यहां के छात्र-छात्राएं मिडिल स्कूल भवन पर निर्भर हैं। भवन के अभाव में बच्चों का अध्यापन कार्य भी बाधित हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *