प्रांतीय वॉच

समाज में दहशत फैलाने वाले अपराधियों पर पुलिस कसेगी शिकंजा : एसपी पल्लव

भिलाई । सेक्टर छ: स्थित पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित पत्रवार्ता में एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि गत 19 जून को छावनी थाना के अंतर्गत केम्प क्षेत्र में हुई रंजीत सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने कम समय में राजनांदगांव के खैरागढ से 5 और रायपुर से 1 आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की है। इस घटना का मास्टर माइंड भाजयूमों नेता लोकेश पाण्डेंय को पकडऩे में छावनी थानेदार व तात्कालीन क्राईम ब्रांच प्रभारी विशाल सोन अपनी टीम के साथ उसे पकडऩे पूरी जद्दोजेहद से लगे हुए है। एसपी डॉ. पल्लव ने दावा किया है कि आज देर शाम तक लोकेश पाण्डेय भी पुलिस की गिरफ्त में होगा। उन्होंने ये भी बताया कि आरोपियों ने अपना मोबाईल बंद कर दिया था लेकिन पुुलिस व पुलिस का मुखबीर तंत्र की सक्रियता से 7 में से 6 आरोपी पकड़ लिये गये है और एक प्रश्र का उत्तर देते हुए भाजयुमों नेता लोकेश पाण्डेय के मामले में दुर्ग पुलिस पर किसी भी तरह का कोई भी राजनैतिक दबाव नही है।

पुलिस ने कहा कि वर्चस्व की लड़ाई व समाज में दहशत फैलाने वाले गुण्डों पर अब सख्ती से निपटेंगे। इसके लिए जिले के सभी थानेदारों को मैने स्पष्ट निर्देश दिया है कि निगरानी और गुण्डे बदमाशों के अलावा समाज में किसी भी प्रकार का दहशत फैलाने वाले अपराधियों की फाईल खोलना शुरू कर दें। इस घटना में आरोपियों ने बड़ी ही जघन्य ढंग से इस हत्या के वारदात को अंजाम दिया है। आरोपी इस घटना को अंजाम देने के बाद इतने खुश थे कि घटना को अंजाम देने के बाद मृतक के साथ सेल्फी भी ली। इस घटना की मुख्य वजह वर्चस्व की रही है। मैं बड़ा गुण्डा की तुम बडे गुण्डे। बहरहाल मृतक और आरोपी के कई क्रिमिनल रिकार्ड कई थानों में भी है। चूकि इस घटना की पूरी रूप रेखा भाजयुमों नेता लोकेश पाण्डेय के सुपेला स्थित उसकी दुकान में इस हत्या की योजना बनाई गई थी। हमने निगम की मदद से उसकी दुकान के सामने किये गये अतिक्रमण से बुलडोजर से तोड़वाया है और दुकानों को सील कर दिया है। अब इसमें फोरेंसिक टीम जांच कर अपनी रिपोर्ट हमे जल्द सोैपेंगी। इस घटना में पुलिस ने चार चाकू, बेस बल्ला, दो माबाईल व काफी मात्रा में मोबाईल के सिम बरामद किये हैं, चाकू और बेस बल्ला में खून और बाल के निशान पाया गया है। सीसीटीवी फूटेज में सभी आरोपियों की पहचान शिनाख्त कराई गई है जिसमें यही सभी आरोपियों ने मिलकर रंजीत की हत्या की है। इसमें किसी को भी बचाने या छोडने वाली बात कही नही है। एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि यह भी फैलाया जा रहा था कि रंजीत को जेल से ही हत्या की प्लानिंग की जा रही थी और उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही थे ऐसी कोई बात नही है। जब्त सभी मोबाईल सिमों और अन्य माध्यमों से इसकी जांच कराई गई लेकिन ऐसी कोई बात नही है।तल्ख लहजे में कह डाला है कि निगरानी बदमाश, गुण्डा बदमाश एवं समाज में वर्चस्व की लड़ाई फैलाने वाले गुण्डों पर अब पुलिस काफी सख्ती और न्याय संगत तरीके से निपटने की तैयारी कर ली है। दुर्ग रेंज के आई जी बी एन मीणा के निर्देश पर स्पेशल 100 यानि सौ पुलिस की स्पेशल टीम अब सार्वजनिक स्थानों पर रात 11 बजे के बाद खड़ा होने,शराब या किसी भी प्रकार का नशा कर के हुड़दंग और गुण्डागर्दी करने पर सीधे मेरे वाटसप नंबर पर जिले की जनता मुझसे शिकायत करें तुरंत उस स्थल पर हमारी 100 स्पेशल टीम पहुंचकर उनपर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही और बड़ी धाराओं पर कार्यवाही करने से जरा भी नही चूकेगी। मुझे ये भी मालूम है कि इस धर पकड़ की कार्यवाही से कई आकाओं के फोन आना जाना शुरू हो जायेंगे लेकिन अब दुर्ग पुलिस ऐसे लोगों से सख्ती से निपटने की तैयारी कर ली है, इसके अलावा जिला प्रशासन के अन्य 18 विभागों की भी मदद लेकर पुलिस अपनी कार्यवाही करेगी। एसपी पल्लव ने आगे बताया किपकडे गये हत्या के अरोपी

सोना उर्फ जोश अब्राहम केम्प, गणेश उर्फ अमन भारती उर्फ टिप्पु, बिसेलाल भारती उर्फ छोटू, पिंटू उर्फ प्रीतम सिंह, भूपेन्द्र साहू, निखिल साहू को थाना छावनी एवं एंटी क्राईम एंड साईबर यूनिट की टीम ने इन्हें पकडऩे का काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *