प्रांतीय वॉच

हर बच्चे में एक प्रतिभा छिपी होती है, छिपी प्रतिभा पहचानने की कोशिश करनी चाहिए: सुश्री अनुसुईया उइके

विद्यार्थी अपनी ऊर्जा को अच्छी सोच के साथ अच्छे कार्य में लगाएंगे
तो जीवन में सफलता अवश्य मिलेगी

महासमुंद |19 अप्रैल 2022 | राज्यपाल सुश्री उईके सोमवार को महासमुंद स्थित रिवेरडेल वर्ल्ड स्कूल के वार्षिकोत्सव समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुई। उन्होंने नवनिर्मित स्विमिंग पुल का लोकार्पण किया। स्कूल के बच्चों के विज्ञान प्रदर्शनी, एक्टिविटी रूम, हिसाब-किताब (मैथ रूम) सहित अन्य क्लास रूम का अवलोकन किया और बच्चों का उत्साहवर्धन किया उनके द्वारा बनाए गए मॉडल की सराहना करते हुए अपनी शुभकामनाएं दी।

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने विद्यार्थियों से कहा कि कोरोना के लम्बे दौर के बाद स्कूल खुल गए। फिर से स्कूल आने और स्कूल के संचालित गतिविधियों में आप लोग लम्बे समय के बाद शामिल हुए है। स्कूल में संचालित इन डोर और आउटडोर गेम खेल सकते हैं। क्योंकि आप लोग सब पहले कोरोना की मुश्किल दौर से गुजरे हैं। उन्होंने कहा कि पढ़ाई और खेल का महत्व जीवन में हमेशा आगे बढ़ाता है। कोरोना काल में आप लोग मोबाईल और टीवी के जरिए पढ़ाई कर रहे थे। यह आधुनिक चीज जीवन का हिस्सा है। पर इसे पढ़ाई में ही आप लोग हिस्सा बनाएं। उन्होंने कहा कि हर बच्चें में एक विशेष प्रतिभा छिपी होती है। इस छुपे हुए हुनर को पहचानने की कोशिश करनी चाहिए और उन्हें निखारना चाहिए। उन्होंने सभी अभिभावकों और शिक्षकों से भी यही अपेक्षा की।

उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि अपनी ऊर्जा को अच्छी सोच के साथ अच्छे कार्य में लगाएंगे तो जीवन में सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने अभिभावकों और विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें कुछ हासिल करना है तो दृढ़ निश्चय करना होगा उसे एक चुनौती के रूप में स्वीकार करना होगा। जो जैसा सोचता है और करता है वह वैसा बन जाता है।

राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि  बच्चों के जीवन में बहुत तनाव है, क्योंकि पढ़ाई के नाम पर अभिभावक उन पर दबाव डालते हैं। उन्होंने अपने स्कूली जीवन का अनुभव साझा करते हुए बताया कि जब वह परीक्षा में विफल हो गई तो उसे चुनौती के रूप में लिया और आगे कड़ी मेहनत कर मेरिट में स्थान बना सकी। बच्चे कम नंबर पाते हैं तो अभिभावकों को चाहिये कि वे बच्चों को हतोत्साहित न करें बल्कि प्रोत्साहित करें ताकि वे आगे अच्छे अंक लेकर आएं। भविष्य में समाज व राष्ट्र के विकास के लिए यही बच्चे अच्छे नागरिक बनकर काम करेंगे ऐसा मुझे विश्वास है। उन्होंने स्कूल में संचालित गतिविधियों की सराहना की। कार्यक्रम में 16 प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को उनकी वर्ष भर की उपलब्धियों के लिए पुरस्कृत किया। इस दौरान विद्यार्थियों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।

लोकसभा सांसद श्री चुन्नीलाल साहू, छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम अध्यक्ष श्री अग्नि चंद्राकर और संसदीय सचिव एवं विधायक श्री विनोद चंद्राकर ने भी विद्यार्थियों को संबोधित किया। सभी ने महासमुंद में रिवेरडेल वर्ल्ड स्कूल की स्थापना के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी और कहा कि यहां महासमुंद और आस-पास के इलाकों के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलेगी। श्री अग्नि चंद्राकर और संसदीय सचिव ने कहा कि राज्य सरकार ने भी गरीब बच्चों के लिए इंग्लिश में पढ़ाई के लिए स्वामी आत्मानंद स्कूल खोले गए हैं। जिसे अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। स्कूल के चेयरमेन श्री अक्षत गोयल ने स्कूल की गतिविधियों और स्थापना पर विस्तार से प्रकाश डाला। स्कूल के प्राचार्या सुश्री पूजा शर्मा ने आभार व्यक्त किया।

Pramod Dubey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *