प्रांतीय वॉच

शिविर में ग्रामीणों के मांग पर अन्य कार्यों में संलग्न शिक्षकों का मूल पदस्थापना में वापसी आभा कुजूर को मिला अनुकम्पा नियुक्ति

शिविर में ग्रामीणों के मांग पर अन्य कार्यों में संलग्न शिक्षकों का मूल पदस्थापना में वापसी आभा कुजूर को मिला अनुकम्पा नियुक्ति

आफताब आलम | बलरामपुर| 11 अप्रैल 2022 | सरकार तुंहर दुआर योजना के तहत् बलरामपुर ब्लॉक में 21 से 28 मार्च के बीच अनुभाग स्तरीय समाधान शिविर का आयोजन किया गया। समाधान शिविर में शिक्षा विभाग से संबंधित शिकायतों एवं आमजनों से प्राप्त मांगों पर विचार करते हुए आवश्यक कार्यवाही हेतु वरिष्ठ कार्यालयों को प्रेषित किया गया है।

बलरामपुर विकासखण्ड खण्ड शिक्षा अधिकारी श्री जयगोविन्द तिवारी ने बताया कि ग्राम पंचायत पाढ़ी के सरपंच से प्राप्त आवेदन पर त्वरित कार्यवाही करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्री के.एल.महिलांगे द्वारा साक्षर भारत में अनुदेशक के दायित्वों का निर्वहन कर रही श्रीमती सुनिता सिंह साहू सहायक शिक्षक प्राथमिक शाला पाढ़ी को अपने मूल पद पर पदस्थ करने के लिए कार्यमुक्त कर दिया गया है।

इसी प्रकार ग्राम कोटसरी के ग्रामीणों के मांग पर श्रीमती सुभद्रा सोनी को मूल पदस्थापना प्राथमिक शाला कठरापारा के लिए कार्यमुक्त किया गया। जनपद सदस्य क्षेत्र क्रमांक 05 से श्री सुबासो कांशी के मांग पर भू-अभिलेख राजस्व में संलग्न भृत्य विजय कांशी को अपने मूल पदस्थ संस्था पूर्व माध्यमिक शाला डुमरखोला में वापस करने का प्रस्ताव कलेक्टर भू-अभिलेख शाखा को प्रेषित किया गया है, तथा 21 मार्च को कपिलदेवपुर में आयोजित समाधान शिविर में सरपंच ग्राम पंचायत सोनहरा के द्वारा प्राथमिक शाला शंकरपुर में शिक्षक व्यवस्था की मांग की गई थी, जिस पर जिला शिक्षा अधिकारी को प्रस्ताव प्रेषित किया गया है.

ग्राम महाराजगंज में 28 मार्च को आयोजित समाधान शिविर में श्री बिनग राम के शिकायत पर श्री अमित कुमार सिंह सहायक शिक्षक जिला निर्वाचन कार्यालय बलरामपुर से मूल पदस्थापना प्राथमिक शाला भेलवाडीह के लिए कार्यमुक्त किया गया है। इसके साथ ही सरपंच ग्राम पंचायत भेलवाडीह के मांग पर श्री महेश साहू शिक्षक को मूल पदस्थ संस्था माध्यमिक शाला अमडण्डा के लिए कार्यमुक्त किया गया है।

उक्त शिविर में ही आभा कुजूर जिनके पति सुन्दर राम मुण्डा की दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी उनके द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया था, जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ने उन्हें भृत्य के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान की है।

आफताब आलम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *