देश दुनिया वॉच

गहलोत कैबिनेट के 30 मंत्री, 11 विधायकों ने कैबिनेट और 4 ने राज्यमंत्री के रूप में ली शपथ

राजस्थान : राजस्थान के नए मंत्रिमंडल का आज शपथ ग्रहण हो गया है. कुल 30  मंत्री बनाए गए हैं.  जिनमें 10 पुराने चेहरे शामिल हैं. साथ ही 12 नए चेहरों को भी शामिल किया गया है. 11 विधायकों ने कैबिनेट और चार ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. बता दें कि सीएम गहलोत (CM Gehlot) के नए मंत्रिमंडल में तीन मंत्रियों को कैबिनेट रैंक में पदोन्नत किया गया है. सचिन पायलट गुट के हेमाराम चौधरी, मुरारी लाल मीणा, जाहिदा खान, राजेंद्र और बृजेंद्र ओला अब सीएम गहलोत कैबिनेट का हिस्सा बन गए है. इन सभी विधायकों ने आज मंत्री पद की शपथ (MLA Take Minister Oath) ली है. इसके साथ ही महेंद्रजीत सिंह मालवीय, गोविंद राम मेघवाल, शकुंतला रावत, महेश जोशी, रामलाल जाट, विश्वेंद सिंह, ममता भूपेश, टीकाराम जूली को भी गहलोत कैबिनेट में मंत्री बनाया गया है.

इन विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ-

हेमाराम चौधरी (कैबिनेट मंत्री) सचिन पायलट के खास माने जाते हैं. उन्होंने आज मंत्री पद की शपथ ले ली है. हेमाराम कांग्रेस के कद्दावर नेता माने जाते हैं. वह गुड़ामालानी से विधायक हैं. उन्हें अब कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. इससे उनके समर्थकों में खुशी का माहौल है.

ममता भूपेश (कैबिनेट मंत्री) दौसा जिले की सिकराय सीट से विधायक हैं. दलित समुदाय से आने वाली ममता फिलहाल महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री हैं. लेकिन आज उन्हें प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.

विश्वेंद सिंह (कैबिनेट मंत्री) भरतपुर की डीग-कुम्हेर सीट से विधायक हैं. वह तीन बार विधायक रह चुके हैं. गहलोत कैबिनेट में वह पहले भी मंत्री थे. लेकिन राजस्थान में आए सियासी संकट की वजह से उन्हें मंत्री पद गंवाना पड़ा था. आज उन्होंने फिर से मंत्री पद की शपथ ले ली है.

टीकाराम जूली (कैबिनेट मंत्री) अलवर ग्रामीण सीट से विधायक हैं. दलित समुदाय से आने वाले जूली फिलहाल श्रम राज्य मंत्री थे. अब उन्हे प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बना दिया गया है. आज उन्होंने दोबारा मंत्री पद की शपथ ग्रहण की है.

महेंद्रजीत सिंह मालवीय (कैबिनेट मंत्री) बांसवाड़ा जिले की बागीडोरा सीट से विधायक हैं. वह तीन बार विधायक रह चुके हैं. आज उन्होंने मंत्री पद की शपथ ली है. इससे पहले भी कांग्रेस सरकार में वह कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. वह जनजाति इलाके का बड़ा चेहरा माने जाते हैं.

रमेश मीणा (कैबिनेट मंत्री) करौली जिले की सपोटरा सीट से तीन बार के विधायक है. गहलोत कैबिनेट में वह पहले भी कैबिनेट मंत्री थे. लेकिन बगावत के बाद उन्हें पद गांवाना पड़ा था. लेकिन आज उन्होंने फिर से कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली है.

महेश जोशी (कैबिनेट मंत्री) जयपुर की हवामहल सीट से विधायक हैं. गहलोत कैबिनेट में मंत्री बनाए गए विधायक जोशी दो बार के विधायक हैं. वह पहले लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं. उन्हें अब कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.

भजनलाल जाटव (कैबिनेट मंत्री) भरतपुर की वैर सीट से विधायक है. वह गहलोत सरकार में गृह रक्षा राज्य मंत्री थे लेकिन आज वह प्रमोट होकर कैबिन्ट मंत्री बन गए हैं.

शकुंतला रावत (कैबिनेट मंत्री) अलवर की बानसूर सीट से दो बार विधायक रह चुकी हैं. महिला चेहरे के रूप में उन्हें आज गहलोत कैबिनेट में शामुल किया गया है. वह गुर्जर समाज का प्रतिनिधित्व करती हैं. उन्हें सीएम गहलोत का भी भरोसेमंद माना जाता है.

गोविंद राम मेघवाल (कैबिनेट मंत्री) बीकानेर की खाजूवाला सीट से विधायक हैं. उन्हें आज दलित कोटे से मंत्री बनाया गया है.दो बार के विधायक गोविंदराम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रह चुके हैं.

रामलाल जाट (कैबिनेट मंत्री) भीलवाड़ा की मांडल सीट से विधायक हैं. वह चार बार के विधायक है. रामलाल पहले भी मंत्री रह चुके हैं. उन्होंने आज फिर से मंत्री पद की शपथ ली है. उन्हें स्पीकर सीपी जोशी के कोटे से गहलोत कैबिनेट में शामिल किया गया है.

मुरारी लाल मीणा (राज्यमंत्री) तीन बार विधायक रह चुके हैं. अब गहलोत कैबिनेट में वह मंत्री बन गए हैं. उन्होंने आज मंत्री पद की शपथ ली है. मुरारीलाल पहली बार बांदीकई से बीएसपी के विधायक बने थे. दूसरी बार भी वह बीएसपी के टिकट पर दौसा से विधायक बने. इस दौरान कांग्रेस में विलय होने के बाद वह गहलोत सरकार में मंत्री भी बनाए गए थे.

जाहिदा खान (राज्यमंत्री)को गहलोत सरकार में राज्यमंत्री बनाया गया है. उन्होंने आज मंत्री पद की शपथ ग्रहण कर ली है. जाहिदा खान राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में कैबिनेट मंत्री रह चुके तैयब हुसैन की बेटी हैं. उन्हें मुस्लिम कोटा के तहत मंत्री पद दिया गया है. वह फिलहाल भरतपुर की कामां सीट से विधायक हैं.

राजेंद्र गुढ़ा (राज्यमंत्री)झुंझनू की उदयपुरवादी सीट से विधायक है. वह आज गहलोत कैबिनेट में मंत्री बनाए गए है. वह बीएसपी से कांग्रेस में शामिल हुए हैं. वह कांग्रेस की पिछली सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं. आज उन्होंने फिर से मंत्री पद की शपथ ली है.

ब्रजेंद्र ओला (राज्यमंत्री)सचिन पायलट समर्थक और शेखावाटी के बड़े जाट नेता हैं. झुंझनू सीट से विधायक बृजेंद्र तीन बार विधायक रह चुके हैं. पह पहले भी मंत्री रह चुके है. आज एक बार फिर से उन्होंने मंत्री पद की शपथ ली है.

बात दें कि कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने पहले ही नई कैबिनेट की लिस्ट ट्विटर पर साझा कर दी थी. जिनमें सचिन पालय गुट के साथ ही गहलोत गुट के विधायक भी शामिल हैं.हालांकि आज सचिन पायलट ने ये भी साफ कर दिया है कि पार्टी में कोई खेमेबाजी नहीं है. बता दें कि आलाकमान की तरफ से सचिन पायलट की मांगें माने जाने से वह बहुत खुश हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *