प्रांतीय वॉच

कोरोना काल के दौरान नेत्रदान पर लगे प्रतिबंध हटने के 2 वर्षों बाद दुर्ग में पहला नेत्रदान सम्पन्न

तापस सन्याल/भिलाई : कोरोना काल के दौरान नेत्रदान पर लगे प्रतिबंध हटने के बाद लगभग 2 वर्षों बाद दुर्ग में पहला नेत्रदान सम्पन्न हुआ,पद्मनाभपुर दुर्ग निवासी श्रीमती सुमन खेर की मृत्यु के पश्चात उनके नेत्रदान कर कार्निया नवदृष्टि फाउंडेशन के माध्यम से जिला चिकित्सालय की नेत्र विभाग की टीम द्वारा रायपुर मेडिकल कॉलेज सुरक्षित पहुंचाए गए l

श्रीमती सुमन खेर की मृत्यु कल शाम हाईटेक हॉस्पिटल में हार्टअटैक आने से हुई मृत्यु के वक़्त हॉस्पिटल में उपस्थित अग्रवाल समाज के प्रमुख बंसी अग्रवाल व हाईटेक हॉस्पिटल के डायरेक्टर संजय अग्रवाल ने सुमन खेर के दामाद श्री प्रदीप टोले व् उनकी पुत्री मोहिनी टोले को नेत्रदान करने का सुझाव दिया जिस पर परिवार की सहमति मिलते ही बंसी अग्रवाल ने नवदृष्टि फाउंडेशन के सदस्यों से सम्पर्क कर नेत्रदान प्रक्रिया प्रारम्भ करने का आग्रह किया,नवदृष्टि फाउंडेशन के राज आढ़तिया व् कुलवंत भाटिया तुरंत जिला चिकित्सालय के नेत्रसहायक अधिकारी अजय नायक,अरुण सिंह,राम निवास नाग को साथ ले हाईटेक हॉस्पिटल पहुंचे जंहा नेत्र विभाग प्रभारी डॉ संगीता भाटिया के निर्देश पर कॉर्निया कलेक्ट किये गए l

कुलवंत भाटिया न कहा कोरोना संक्रमण की वजह से सरकार द्वारा पिछले दो वर्षों से नेत्रदान व् देहदान करने पर रोक लगा दी गई थी पिछले माह प्रतिबंध हटने के बाद पहला नेत्रदान करवाना हमारे लिए एक चुनौती थी सुमन खेर के नेत्रदान के बाद अब यह प्रक्रीया पुनः प्रारम्भ होगी व लोगों को नई रौशनी मिलेगी,राज आढ़तिया ने कहा प्रतिबंध के दौरान भी हमारी संस्था नेलोगों को जागरूक करने की पूरी कोशिश जारी रखी और समय समय पर लोगों को नेत्रदान व् देहदान हेतु जागरूक किया राज ने कहा कोरोना काल के दौरान भी बहुत से लोगों ने हमसे सम्पर्क कर नेत्रदान का आग्रह किया किन्तु कोरोना प्रोटोकाल की वजह से नेत्रदान संभव नहीं हो सका संस्था के वरिष्ठ सदस्य अनिल बल्लेवार ने कहा पिछले दो वर्षो में जो गैप हुआ अब हमें दोगुनी ऊर्जा से कार्य कर उसकी पूर्ति करनी है l

श्रीमती सुमन खेर के दामाद प्रदीप टोले ने कहा आज माता जी के जाने का हमें दुःख है किन्तु माता जी ने जाते जाते दो परिवारों को नया जीवन दिया यह स्मृति सदा हमारे दिलों में रहगी पुत्री मोहिनी टोले ने कहा मॉ ने हमेशा लोगों की मदद की व् माँ धार्मिक विचारों की थी नेत्रदान से जो सन्देश दिया है उम्मीद है लोग उनसे प्रेरित हो आने वाले समय मन नेत्रदान हेतु आगे आएंगे l

नवदृष्टि फाउंडेशन व् जिला चिकित्सालय की टीम ने संस्था के निजी वाहन से कॉर्निया रायपुर मेडिकल कॉलेज सुरक्षित पहुंचाए नवदृष्टि फाउंडेशन की ओर से अनिल बल्लेवार ,कुलवंत भाटिया,राज आढ़तिया,प्रवीण तिवारी,मुकेश आढ़तिया, हरमन दुलई,,किरण भंडारी, रितेश जैन,जितेंद्र हासवानी,सत्येंद्र राजपूत,सुरेश जैन,पियूष मालवीय,विकास जायसवाल मुकेश राठी,दीपक बंसल,प्रभु दयाल उजाला, प्रमोद बाघ ,सूरज साहू संतोष राजपुरोहित,चेतन जैन ,चन्दन मिश्रा,यतीन्द्र चावड़ा, नत्थू अग्रवाल, खुर्शीद अहमद, आकाश मसीह, वीरेंद्र पाली, प्रफुल्ल जोशी,प्रसाद राव,संतोष रत्नानी ने सुमन खेर को श्रद्धांजलि दी व् परिवार को नेत्रदान करने हेतु साधुवाद दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *