देश दुनिया वॉच

CRPF जवान ने साथियों पर AK-47 से की फायरिंग, 4 जवानों की मौत और 3 घायल

सुकमा : छत्तीसगढ़ के सुकमा में रविवार देर रात CRPF (केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स) जवान ने अपने साथियों पर AK-47 से फायरिंग कर दी। घटना में 4 जवानों की मौत हो गई, जबकि 3 घायल हैं। इनमें 2 जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें चॉपर से रायपुर रेफर किया जा रहा है। घटना के बाद आरोपी जवान को हिरासत में ले लिया गया है। अभी तक फायरिंग का सही कारण सामने नहीं आ सका है। IG, CRPF , एडिशनल SP कोंटा लिंगनपल्ली कैंप पहुंच चुके हैं। IG बस्तर, कलेक्टर सुकमा और SP सुकमा भी मौके पर जाएंगे।

जानकारी के मुताबिक, घटना कोंटा विकासखंड के ग्राम लिंगनपल्ली स्थित 217 बटालियन कैंप की है। देर रात करीब 3.15 बजे CRPF जवान रितेश रंजन ने अपने साथियों पर फायरिंग कर दी। गोली लगने से 2 जवानों की मौके पर ही मौत हो गई। इसी कैंप में 85वीं बटालियन के जवानों का भी कैंप है। देर रात गोली चलने से हड़कंप मच गया। अन्य जवान दौड़ कर मौके पर पहुंचे। इसके बाद अफसरों को जानकारी दी गई।

कई दिन से मानसिक रूप से परेशान था आरोपी जवान
घायल 5 जवानों को कैंप से करीब 11 किमी दूर तेलंगाना स्थित भद्राचलम के अस्पताल ले जाया गया। वहां पर इलाज के दौरान 3 जवानों ने दम तोड़ दिया, जबकि 2 अन्य की हालत गंभीर देख उन्हें चॉपर से रायपुर रेफर किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि आपसी रंजिश या मानसिक संतुलन बिगड़ने के कारण आरोपी जवान ने फायरिंग की। एक दिन पहले भी उसका साथी जवानों से विवाद हुआ था। आरोपी जवान कई दिनों से परेशान था।

घटना में मारे गए जवान बिहार और पश्चिम बंगाल के रहने वाले
फायरिंग की घटना में मारे गए 2 जवान बिहार के रहने वाले थे, जबकि 1 पश्चिम बंगाल का निवासी था। चौथे जवान को लेकर अभी जानकारी नहीं मिल सकी है। मृतक जवानों में बिहार निवासी धांजी और राजमणि कुमार यादव व पश्चिम बंगाल निवासी राजीब मंडल के अलावा एक अन्य जवान धर्मेंद्र कुमार शामिल हैं। इनके अलावा जवान धर्मेंद्र कुमार सिंह, धर्मात्मा कुमार और मालया रंजन महाराणा घायल हैं।

पहले भी हो चुकी हैं इस तरह की घटनाएं
त्तीसगढ़ के जगदलपुर में 9 महीने पहले CRPF जवान ने साथियों पर फायरिंग की थी। इसमें एक जवान की मौत हुई, जबकि दूसरा घायल हो गया था। जवानों में किसी बात को लेकर आपस में विवाद हुआ था।

दंतेवाड़ा में दिसंबर 2012 में CRPF जवान ने सोते हुए साथियों पर फायरिंग की थी। इसमें 4 जवानों की मौत हो गई और एक घायल हुआ था। उस समय भी बताया गया था कि हमला करने वाले जवान की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी।

CM बघेल बोले- ऐसी घटनाएं दोबारा न हों…
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा है कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों, इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। बघेल ने घटना में मरने वाले जवानों के प्रति शोक संवेदना प्रकट की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *