देश दुनिया वॉच

देश में रोजाना मिल रहे 20 हजार कोरोना केस, त्योहारों में फिर बढ़ सकती है रफ्तार, अगले 3 महीने अहम: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

नई दिल्ली : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने गुरुवार को दैनिक प्रेस वार्ता में कहा क‍ि कोरोना वायरस महामारी की चुनौती अब काफी हद तक खत्‍म हो चुकी है. हालांकि दूसरी लहर (COVID-19 Second Wave) को काबू में करने के लिए हमें लगातार प्रयास करना होगा. हमें अभी यह नहीं समझना चाहिए कि महामारी का दौर खत्‍म हो गया है. अभी भी कई सारी चुनौतियां हैं जिनपर ध्‍यान देने की जरूरत है. कोरोना संबंधी व्‍यवहार को हमें अपने जीवन में बनाए रखना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 22 हजार के करीब मामले सामने आए हैं. अभी भी एवरेज 20 हजार नए कोरोना मामले सामने आ रहे हैं.

लव अग्रवाल ने कहा क‍ि पिछले वीक रिपोर्ट हुए कोरोना के कुल मामलों का 56% मामले केरल से आए हैं. देश में अभी भी 2 लाख 44 हजार सक्रिय मामले हैं. जबकि केरल में अकेले 1 लाख से ज्‍यादा एक्टिव केस हैं. जबकि देश में 4 राज्‍यों में 10 हजार से 50 हजार एक्टिव केस हैं. वहीं 31 राज्यों में 10 हजार से कम एक्टिव केस हैं. अगर पॉजिटिविटी रेट की बात की जाए तो 5 राज्‍यों (मिजोरम, केरल, सिक्किम, मणिपुर, मेघालय) में वीकली पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से ज्‍यादा है. जबकि 28 जिले में वीकली पॉजिटिबिटी 5 से 10% के बीच है और 34 जिलों में वीकली पॉजिटिविटी 10% से ज्यादा है.

नीदरलैंड और यूके जैसे देशों में लापरवाही पड़ी भारी
लव अग्रवाल ने कहा कि नीदरलैंड और यूके जैसे देशों में कोरोना नियमों का पालन न करने की वजह से वहां पर एक बार फिर से संक्रमितों की संख्‍या में बढ़ोत्‍तरी हुई है. आने वाले तीन महीने देश के लिए बेहद महत्‍वपूर्ण हैं. इन तीन महीनों के दौरान त्‍योहारों को लेकर खास सतर्क रहने की जरूरत है. हमें त्योहारों को मनाने के लिए वर्चुअल/ऑनलाइन पर फोकस करना चाहिए.

नीति आयोग के सदस्‍य डॉ वीके पाल ने कहा क‍ि अमेरिका, यूके जैसे देशों में लापरवाही के कारण संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हमारे लिए ये चेतावनी जैसा है. देश के पांच राज्‍यों झारखंड, पश्चिम बंगाल, मेघालय, मणिपुर और नगालैंड में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने की जरूरत है. हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम त्‍योहारों में खुशियां बांटें, वायरस नहीं.

वीके पाल ने कहा क‍ि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऋषिकेश से पीएसए प्‍लांट का लोकार्पण किया है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने टीके की रफ्तार को और बढ़ाने का आह्वान किया है. आज अस्पताल में 8 लाख 36 हजार के आसपास बेड हैं. 9 लाख 69 हजार एडिशनल आइसोलेशन बेड हैं. ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड की संख्‍या 4 लाख 86 हजार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *