क्राइम वॉच

नवकार ज्वेलर्स में 80 लाख की चोरी: चोर-पुलिस के बीच 10 मिनट बातचीत, चोर खुद बन गया दुकान का मालिक, सुबह 4.48 बजे की गुढि़यारी पेट्रोलिंग टीम ने दुकान के सामने ही रोका था, झारखंड और बिहार में छिपने की आशंका

रायपुर : गुढ़ियारी थाना क्षेत्र के नवकार ज्वेलर्स में 80 लाख की चोरी को 72 घंटे बीत गए हैं। पुलिस के हाथ अब भी खाली हैं। पुलिस को दिन बीतने के साथ नई जानकारियों ने उम्मीद बढ़ा दी है। आरोपित राजधानी के जिस होटल में रुके थे उसका पता निकाल चुकी है। आरोपितों के आधार कार्ड पुलिस के हाथ लगे हैं, जिसमें उनका पता मिला है। उल्लेखनीय है कि घटना के दिन पुलिस के सामने आकर भी चार चकमा दे गए। वारदात को अंजाम देकर चोर जब निकल रहे थे, उसी दौरान पुलिस की गश्त पार्टी पहुंच गई थी। मगर, कुछ सवाल के बाद पुलिस ने फोटो ली और उन्हें जाने दिया। जब यह बात सुबह पता चली, तो पुलिस के होश उड़ गए। टीम ने एक काम सही किया था कि उनके फोटो खींच लिए थे, इससे आरोपितों को खोजने में पुलिस को आसानी हो रही है। झारखंड और बिहार में पुलिस की टीम डेरा डालकर रखी है।

पुलिस और चोर के बीच बातचीत :

पुलिस : कहां जा रहे हो?

चोर : दुकान में पेंटिंग का काम करने आए थे, सुबह ट्रेन है स्टेशन जा रहे।

पुलिस : कितने लोग हो (इसी दौरान एक अंदर चला गया)?

चोर : तीन लोग हैं सर।

पुलिस: दुकान मालिक कहां है?

चोर: अपने ही साथी को दुकान का मालिक बताकर अंदर से बाहर लाया। पुलिस के पूछने पर उसने बताया कि उसकी दुकान है और पेंटिंग का काम चल रहा था। अब ये जा रहे हैं।

पुलिस : ठीक है बोली और उनकी फोटो निकली?

चोर : ओके सर बोलकर जब पुलिस टीम वहां से निकल गई तो सभी वहीं खड़ी कार में बैठे और निकल गए।

स्टेशन रोड स्थित होटल में घटना के दो दिन पहले रुके

घटना से अंदाजा लगाया जा सकता है कि चोरों ने इसके लिए प्लानिंग बड़े स्तर पर की। पुलिस ने आरोपित जिस होटल में रुके थे उसे खोज निकाला है। घटना से तीन दिन पहले आरोपितों ने स्टेशन रोड स्थित एक होटल में कमरा बुक करवाया। इसके बाद शहर में घूमकर रेकी की। दुकान मिलने के बाद चोरी के लिए दिन और समय तय किया। शनिवार को दिन चुना क्योंकि रविवार को ज्यादातर क्षेत्रों में दुकानें देरी से खुलती हैं या फिर बंद रहती हैं। पुलिस टीम को रेलवे स्टेशन के पास में बने एक होटल से शातिर चोरों का पता मिला है। घटनास्थल के पास मौजूद गाड़ी और होटल के पास खड़ी गाड़ी भी एक निकली है। इन साक्ष्यों के आधार पर पुलिसकर्मी झारखंड साहिबगंज रवाना हुए थे।

दो संदेही पुलिस के हत्थे चढ़े

साहिबगंज पुलिस की मदद दो संदेहियों को पुलिसकर्मियों ने पकड़ा है। इन संदेहियों से पुलिस की टीम पूछताछ कर रही है। वहीं उनके करीबियों ने भी पुलिस पूछताछ कर रही है। उनके छिपने की हर जगह पर पुलिस की अब नजर है।

लोकल मददगारों की खोज में पुलिस

पुलिस की टीम अलग-अलग क्षेत्र में काम कर रही है। मुख्य आरोपित चार हैं। इसके अलावा लोकल स्तर पर भी चोरों की मदद की गई। पुलिस अब उनकी तलाश में है। पुलिस रायपुर में उनकी रेकी करने और गैस कटर खरीद करवाने वालों को खोज रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *