देश दुनिया वॉच

ब्रिटिश नागरिकों के लिए नए यात्रा नियम जारी, वैक्सीन लेने के बावजूद कोरोना टेस्ट और क्वारंटीन जरूरी- भारत का UK को बड़ा जवाब

नई दिल्ली : ब्रिटेन के कोरोना यात्रा नियमों को देखते हुए अब भारत ने भी यूके के नागरिकों के लिए नए यात्रा नियम जारी किए हैं. नए नियमों के मुताबिक अब वैक्सीन लेने के बाद भी ब्रिटिश नागरिकों को कोरोना टेस्ट कराना होगा. इसके अलावा भारत आने के बाद क्वारंटीन रहना भी अनिवार्य है. जानकारी के मुताबिक नए नियम 4 अक्टूबर से लागू होंगे और यूके से आने वाले सभी यूके नागरिकों पर लागू होंगे. इन नए नियमों के मुताबिक ब्रिटिश नागरिकों को भी भारत आने पर होम क्वारंटीन में रहना होगा. ब्रिटिश नागरिक को चाहे जो भी वैक्सीन दी गयी हो लेकिन उन्हें RTPCR टेस्ट करवा कर आना होगा. फिर भारत में भी टेस्ट करवाते रहने होंगे.

नए नियमों के मुताबिक ब्रिटेन के नागरिकों को यात्रा से पहले 72 घंटों के अंदर कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य होगा. वहीं भारत आने के बाद एयरपोर्ट पर भी कोरोना टेस्ट कराना होगा. इसके अलावा भारत आने के 8वें दिन भी नागरिकों को कोरोना टेस्ट कराना जरूरी होगा. वहीं भारत पहुंचने के बाद 10 दिनों तक होम क्वारंटीन में रहना होगा.

ब्रिटेन ने जारी किए थे नए नियम

इससे पहले ब्रिटेन ने अपने कोरोना यात्रा नियमों में बदलाव किया था. नए नियम के तहत जिन भारतीयों ने कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की डोज लगवाई है, उन्हें ‘अनवैक्सीनेटेड’ की कैटेगरी में रखा गया है. जबकि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन (Oxford-AstraZeneca Vaccine) की दो डोज लेने वालों को नियमों में ढील दी गई है. वहीं पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) द्वारा भारत में निर्मित वैक्सीन को भी लिस्ट से बाहर रखा गया है.

हालांकि अब ब्रिटेन सरकार पर भारत से आने वाले यात्रियों के लिए अपनी कोविड वैक्सीन को लेकर तय नियम की समीक्षा करने का दबाव बढ़ रहा है. नियमों के मुताबिक विभिन्न देशों की वैक्सीन को लेकर जारी लिस्ट में भारतीय वैक्सीन को मान्यता नहीं दी गई है. दरअसल, ब्रिटेन की यात्रा के संबंध में फिलहाल रेड, एम्बर और ग्रीन कलर की तीन अलग अलग लिस्ट बनाई गई हैं. अलग-अलग देशों को अलग अलग लिस्ट में रखा गया है.

चार अक्टूबर से सभी लिस्ट को मिला दिया जाएगा और केवल रेड लिस्ट बाकी रहेगी. रेड लिस्ट में शामिल देशों के यात्रियों को ब्रिटेन की यात्रा पर पाबंदियों का सामना करना पड़ेगा. भारत अब भी एम्बर लिस्ट में है. ऐसे में एम्बर लिस्ट को खत्म करने का मतलब है कि केवल कुछेक यात्रियों को ही कोरोनावायरस टेस्ट से छूट मिलेगी. जिन देशों की कोविड-19 वैक्सीन को ब्रिटेन में मंजूरी होगी उसमें भारत शामिल नहीं है. इसका मतलब यह है कि जिन लोगों ने भारतीय सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन लगवाई है, उन्हें अनिवार्य रूप से कोरोना जांच करानी होगी और तय जगहों पर आइसोलेशन में रहना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *