प्रांतीय वॉच

चारामा घाट में भूस्खलन से सड़क पर बड़े-बड़े पत्थर गिरने से क्षेत्रवासी एवं राहगीर भयभीत

■ कभी भी हो सकती है बड़ी दुर्घटना शासन प्रशासन नहीं दे रहा है इसकी और कोई ध्यान

अक्कू रिजवी/कांकेर : कांकेर विगत दिनों कांकेर जिले के जागरूक नागरिकों के द्वारा कुछ वर्ष पूर्व ही चौड़ा किये गए चारामा घाट के गलत तरीके से चौड़ीकरण किये जाने एवं घाट के दोनों ओर के पहाड़ से होने वाले भूस्खलन के कारण बड़े बड़े  पत्थर सड़क में गिरने से होने वाली गम्भीर दुर्घटना की आशंका को देखते हुए 50-50 फिट दोनों ओर और चौड़ा करनें एवं चौड़ीकरण होते तक पुराने मार्ग को ही बहाल करनें हेतु प्रदर्शन किया गया था तथा केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के नाम  ज्ञापन सौंपा गया था….लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग उदासीन बना हुआ हैं, विभाग ने अब तक इस दिशा में कोई भी ठोस कार्यवाही नहीं कि हैं, आज सड़क के बीच में पुनः बड़े बड़े पत्थर गिर गए है जिस पर विगत दिनों किये गए प्रदर्शन करनें वालों  में प्रमुख प्रदर्शनकर्ता रहें कांकेर जिला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं कांकेर चेंम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के कार्यकारी अध्यक्ष दीपक शर्मा ने राष्ट्रीय राजमार्ग  की निष्क्रियता पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा हैं कि यदि शीघ्र ही चारामा घाट का चौड़ीकरण नहीं किया गया तो मजबूरन जिले के जागरूक नागरिकों को उग्र आंदोलन के लिये बाध्य होना पड़ेगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी  राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग की होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *