रायपुर वॉच

विपक्ष के तेवर : सुन लें सरकार, धर्मांतरण बंद नहीं हुआ तो ईंट से ईंट बजा देगी भाजपा

रायपुर : बस्तर चिंतन शिविर के बाद प्रदेश भाजपा के तेवर अचानक से आक्रामक दिखाई दे रहे हैं। इसका सबसे बड़ा प्रमाण पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा रविवार को किया गया ट्वीट है, जिसमें लिखा है ‘सरकार सुन लें! छत्तीसगढ़ में यदि धर्मांतरण बंद नहीं हुआ तो भाजपा ईंट से ईंट बजा देगी। ‘इस ट्वीट से स्पष्ट है कि विपक्ष ने अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव किया है। पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक चिंतन शिविर में शामिल हुए पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष और राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने पदाधिकारियों से कहा था कि विधानसभा चुनाव 2023 को गिनती के दिन रह गए हैं। सत्ता वापसी के लिए जनता के मुद्दों को आक्रामकता के साथ उठाएं।

उधर, शनिवार को भारी बरसात में धर्मांतरण के मुद्दे को लेकर भाजपा शीर्ष नेताओं का एकजुट होकर राजभवन तक भीगते हुए पैदल मार्च करना काफी कुछ कहानी बयां करता है। सूत्रों के मुताबिक कई बड़े नेता इस पैदल शांति मार्च का हिस्सा नहीं थे, उनके आने की सूचना भी नहीं थी। यहां तक की उनके नाम भी भाजपा ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में उल्लेख नहीं किए, मगर वे भी शामिल हुए। स्पष्ट है कि अब कोई पीछे नहीं रहना चाहता।

कार्ययोजना पर हो रहा काम
3 दिन तक चले बस्तर चिंतन शिविर में प्रदेशभर के मुद्दों पर चर्चा हुई। इन सभी को लेकर संगठन आगामी कार्ययोजना तैयार कर रहा है। पदाधिकारियों का कहना है कि सिलसिलेवार मुद्दे उठाए जाएंगे। अभी धर्मांतरण, किसान, महिला सुरक्षा प्रमुख मुद्दे हैं।

इधर, रायपुर छोड़ सभी जिलों में हुए प्रदर्शन
धर्मांतरण के मुद्दे को लेकर रायपुर छोड़ सभी 27 जिलो मुख्यालय में भाजपा द्वारा प्रदर्शन किया गया। इस दौरान धरना दिया गया। एसपी को ज्ञापन सौंपकर धर्मांतरण करवाने वालों खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। गौरतलब है कि रायपुर स्थित पुरानी बस्ती थाने में दो पक्षों में हुई घटना के बाद भाजयुमो कार्यकर्ताओं की गिरफ्तार हुई थी, जिसके बाद भाजपा ने बड़ा धरना दिया था। 15 को सभी ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *