क्राइम वॉच

बहू ने परिवार को दी जहरीली चाय, मासूम की मौत, चार की हालत गंभीर, प्रेमी को पाने की चाहत में बहू ने परिवार को खत्म करने योजना बनाई

बहराइच। प्रेमी को पाने की चाहत में बहू ने अपने ही परिवार को खत्म करने के लिए योजना बनाई और जहरीली चाय बनाकर ससुराल के लोगों को पिला दी। जहरीली चाय पीने से परिवार के पांच सदस्यों की हालत गंभीर हुई तो इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया जहां रक्षाबंधन में मामा के घर आए भांजे की इलाज केे दौरान मौत हो गई। चार अन्य सदस्यों की हालत गंभीर बनी हुई है जिनमें दो बच्चे भी शामिल हैं। घटना की सूचना पर एसपी, सीओ व प्रभारी देहात कोतवाल दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। बहू को हिरासत में लेकर पुलिस कोतवाली ले आई। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

देहात कोतवाली क्षेत्र के मछियाही गांव निवासी 55 वर्षीय पंचम जायसवाल पुत्र रामपाल के घर में रक्षाबंधन होने से रिश्तेदारों का जमावड़ा रहा। रक्षाबंधन के ही दिन पंचम की बड़ी बहू अंकिता पत्नी पूरन भी मायके से ससुराल आई थी। सोमवार की सुबह लगभग आठ बजे बहू ने चाय बनाई और पीने के लिए अपने ससुर पंचम, देवर जितेंद्र, चार वर्षीय भतीजी श्रृष्टि, 15 वर्षीय भांजी शिवांशी और दो वर्षीय भांजे रुद्रांश को दी। परिवार के अन्य सदस्य काम में व्यस्त होने के कारण चाय नहीं पी पाए। चाय पीने के 15 मिनट बाद ही पांचों लोगों को उल्टी शुरू हो गई।

आनन-फानन में सभी को गांव के लोगों की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया जहां उपचार कर रहे चिकित्सकों ने लक्षण देख फूड प्वाइजनिंग की बात बताई। यह सुन परिवार के सदस्यों के होश उड़ गए। इलाज के दौरान दो वर्षीय भांजे रुद्रांश ने दम तोड़ दिया जबकि चार अन्य सदस्यों में दोनों बच्चों की हालत गंभीर बनी है। मासूम की मौत होते ही दुख का पहाड़ टूट पड़ा। परिजनों में हाहाकार मच गया। परिजनों को बहू पर चाय में जहर मिलाकर पिलाने का शक हुआ। घटना की सूचना पर एसपी सुजाता सिंह, सीओ सिटी विनय द्विवेदी व देहात कोतवाल प्रभारी समर सिंह दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और जांच पड़ताल की।

एसपी ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या जांच में पाया गया कि बहू ने ही चाय में जहर मिलाया था। बहू को हिरासत में लेकर कोतवाली भेजा गया है। देहात कोतवाल ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। दिसंबर 2020 में पूरन का विवाह अंकिता से हुआ था। बताया जाता है कि बिना उसकी मर्जी के शादी हुई थी। वह अपने ससुराल नहीं आना चाहती थी, लेकिन मायके वालों ने जबरदस्ती विदाई कर दी जिससे नाराज होकर उसने ससुरालीजनों को खत्म करने की योजना बनाई और जहर मिलाकर परिवार के सदस्यों को चाय पिला दी।

देवर धर्मेंद्र ने बताया कि भाभी का मायके में किसी से प्रेम प्रसंग चल रहा है। उसने अपने प्रेमी को पाने के लिए ससुरालीजनों के साथ ऐसा करने का प्लान बनाया था इसीलिए वह जहर भी मायके से लेकर आई थी जिससे किसी को भनक तक न लग सकी। अगर सब लोग एक साथ चाय पी लेते तो पूरा परिवार एक साथ खत्म हो जाता। जहरीली चाय देने वाली महिला के पति पूरन को भी इस बात का बिल्कुल अहसास न हो सका कि उसकी पत्नी ने उसके परिवार को खत्म करने का इरादा बना लिया है। शायद यही कारण रहा कि पति गोबर फेंकने चला गया था जिससे वह भी चाय नहीं पी पाया। वरना वह भी चपेट में आ जाता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *