प्रांतीय वॉच

मोर जमीन मोर मकान की समीक्षा: निर्माणाधीन मकान देखने के बाद आयुक्त ने कहा कौन सी किश्त कब मिलेगी हितग्राहियों को बताए

  • कार्य जल्द पूरा करने दी हिदायत

तापस सन्याल/रिसाली : प्रधानमंत्री आवास योजना मोर जमीन मोर मकान के तहत चयनित हितग्राहियों से रिसाली निगम के आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे ने मुलाकात की। योजना के तहत बनाए जा रहे मकानों का निरीक्षण किया। आयुक्त ने निर्देश दिए कि योजना के तहत कब-कब राशि उपलब्ध होगी इसकी जानकारी प्रत्येक हितग्राहियों को होनी चाहिए। निगम आयुक्त ने रिसाली बस्ती, टंकी मरोदा और स्टेशन मरोदा में योजना के तहत बन रहे मकानों का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकांश हितग्राहियों ने चर्चा में बताया कि आगे निर्माण के लिए उनके पास पैसा नहीं है। आयुक्त ने कहा कि वे क्रमशः और स्पीड से काम करे। पैसों की कमी नहीं है। उनके निरीक्षण का आशय ही है कि हितग्राहियों को समय पर भुगतान हो, ताकि किसी प्रकार की तकलीफ न हो। इस दौरान कार्यपालन अभियंता सुशील बाबर, सहायक अभियंता आर के जैन, उपअभियंता अखिलेश गुप्ता आदि उपस्थित थे।

डिजाइन में करे मदद
मोर जमीन मोर मकान के तहत 500 से 700 वर्ग फीट तक मकान निर्माण करने शासन मदद कर रही है। अधिकार पत्र व पट्टाधारियों के लिए राशि स्वीकृत की गई है। आयुक्त ने निर्देश दिए कि कम जगह पर बेहतर मकान निर्माण करने प्रभारी अभियंता मदद करे। ड्राइंग से लेकर गुणवत्ता को ध्यान रखे, ताकि प्लास्टर झड़ने व सिपेज की समस्या न हो।

दिया टार्गेट
आयुक्त ने सब इंजीनियर को निर्देश दिए कि कई हितग्राहियों को मिलने वाली राशि के बारे में जानकारी नही रहती। दरअसल कार्य प्रगति की समीक्षा के बाद ही पैसा खाते में आता है। आयुक्त ने कहा कि निगम क्षेत्र मंे 100 डेज के टार्गेट में 90 मकानों का फाउंडेशन कार्य पूर्ण हो चुका है। कार्य न रूके और समय पर हितग्राहियों के खाते में पैसा आए इसके लिए सब इंजीनियर टार्गेट लेकर माॅनिटरिंग करे।

रिसाली निगम क्षेत्र में योजना पर एक नजर
स्वीकृत प्रकरण – 710
कार्य शुरू नहीं हुआ – 232
निर्माण कार्य पूर्ण – 343
निर्माण कार्य प्रगति पर – 149

सामने डिजाइन भी दे
निर्माणाधीन मकान का निरीक्षण करते आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे ने कहा कि राज मिस्त्री घर को सुंदर व आकर्षक बनाए। साथ ही योजना के तहत मोनो को स्पष्ट बनाए। इसके अलावा हितग्राहियों के नाम व दिनांक अच्छे राइटिंग में पेंट से लिखवाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *