प्रांतीय वॉच

पाटन के सांकरा में आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा- ईश्वर से यही प्रार्थना बार-बार इसी धरती में जन्म लूँ

तापस सन्याल/दुर्ग : अपने जन्मदिन के अवसर पर पाटन ब्लाक के ग्राम सांकरा में आयोजित अभिनंदन समारोह में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोगों से मिले प्रेम से मैं अभिभूत हूं मुझे छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा करने का अवसर मिला, यह मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि बार-बार इसी धरती में जन्म लूं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि इस धरती को प्रणाम करता हूं। छत्तीसगढ़ महतारी के बेटे के रूप में में पूरे प्रदेश की सेवा कर रहा हूं। हमारे पुरखों ने जिस छत्तीसगढ़ का सपना देखा है उसे मूर्त रूप देने की हम कोशिश कर रहे हैं।  पाटन की धरती के बारे में उन्होंने कहा कि यह धरती किसान के आंदोलन की धरती है। आजादी की लड़ाई के आंदोलन की धरती है इस धरती को मैं नमन करता हूं। आप सभी से इतना प्रेम मिलता है कि इसके बदले धन्यवाद शब्द बहुत छोटा महसूस होता है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे पुरखे कहते थे कि इस शस्य श्यामला धरती में कोई कमी नहीं, अपने प्रदेश से हम बेरोजगारी, अशिक्षा, भुखमरी जैसी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश भले ही बन गया था, लेकिन कहीं से यह महसूस होता था कि जैसा हमारे पुरखों ने सोचा वैसा प्रदेश गढ़ नहीं पाए। इसलिए हमने निश्चय किया कि पुरखों का सपना पूरा करेंगे। हमारी सरकार बनते ही हमने कर्ज में डूबे हुए किसानों के बुझे हुए चेहरे में रौनक लाने की कोशिश की। 9000 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया। इतिहास में यह ऐतिहासिक घटना है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से कृषकों को प्रोत्साहन देने के लिए हमने योजना बनाई। खेती किसानी हमारी सरकार की प्राथमिकता में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *