प्रांतीय वॉच

पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की तैयारी! वित्त मंत्री बोलीं- हम चर्चा को तैयार

नई दिल्ली : लोकसभा में वित्त विधेयक-2021 पर चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार जीएसटी परिषद की अगली बैठक में पेट्रोल-डीजल पर चर्चा के लिए तैयार हैं. जानें और क्या कहा उन्होंने..

‘राज्य चाहें तो जीएसटी परिषद में विचार’
पेट्रोल-डीजल पर ऊंचे कर को लेकर वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए जीएसटी परिषद की अगली बैठक में चर्चा करने के लिए तैयार है.

‘राज्य लाएं चर्चा का प्रस्ताव’
वित्त मंत्री ने कहा कि अगर राज्य सहमत हों तो आगे बढ़कर चर्चा करने का प्रस्ताव लाएं. उन्हें परिषद की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा करके खुशी होगी.

‘महाराष्ट्र में सबसे अधिक कर’
वित्त मंत्री ने कहा कि वह पेट्रोल-डीजल पर किसी राज्य के कम या ज्यादा कर होने का जिक्र नहीं करना चाहतीं लेकिन अभी महाराष्ट्र में पेट्रोल-डीजल पर सबसे अधिक राज्य कर है. उन्हें लगता है कि आज सदन की चर्चा के बाद राज्य इसे जीएसटी के दायरे में लाने के बारे में सोंचेंगे.

‘रसोई गैस पर तो राज्य का कोई कर नहीं’
वित्त मंत्री के जवाब के बाद कांग्रेस के नेता रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि मंत्री जी ने बढ़िया आवाज में अच्छा भाषण दिया लेकिन रसोई गैस और पेट्रोल डीजल को लेकर कोई ठोस बात नहीं की. पेट्रोल-डीजल पर तो आपने राज्यों के कर की बात कही लेकिन रसोई गैस पर तो राज्यों का कोई कर नहीं लगता, महिलाएं अब खाली सिलेंडरों का क्या करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *