प्रांतीय वॉच

जवान पुत्र की हत्या , बाप को है न्याय की आस 

किरीट ठक्कर / गरियाबंद : देवभोग थाना क्षेत्र के ग्राम दहिगांव में 26 जून 2020 को गांव के ही युवक झजकेतन रजक पिता फूलचंद रजक की मृत्यु हो जाती है। कुछ लोग परिजनों को बताते हैं कि झजकेतन स्कूल के सामने गिर पड़ा है।  पिता जाकर देखते हैं , पुत्र की स्थिति गंभीर है , तुरन्त उसे ओडिसा धर्मगढ़ के शासकीय अस्पताल ले जाया जाता है , जहाँ डॉक्टर उसे मृत घोषित कर देते हैं।
अगले दिन देवभोग में की गई पीएम रिपोर्ट से पता चलता है कि सिर पर गंभीर चोट लगने से मृतक की मौत हुई है।
मृतक झजकेतन की माँ बताती है कि घटना से दस पंद्रह मिनट पहले झजकेतन ने मोबाइल पर मुझसे बात की थी और थोड़ी देर में घर आऊंगा कहा था , उसकी मां ने स्वयं अपने पुत्र को स्कूल के पास गांव के पांच अन्य व्यक्तियों हेमसिंह रजक , कमलेश नागेश , देवीराम प्रधान , खेमानिधि प्रधान , दिलीप प्रधान के साथ बातचीत करते हुए देखा था। कुछ समय बाद डिक्सन नायक ने बताया झजकेतन स्कूल के पास गिरा पड़ा है।
अब सवाल उठता है देवभोग पुलिस की कार्यवाही पर , मर्ग जांच करने वाले अधिकारी की उपेक्षापूर्ण विवेचना पर , घटना के कई माह बाद की गई एफआईआर पर ? घटना दिनांक 26 जून 20 से 19 सितंबर 20 तक मर्ग डायरी में क्या विवेचना हुई है।
मृतक झजकेतन के शव का पीएम कराया गया था , पीएम कर्ता डॉक्टर अंजू सोनवानी द्वारा मृत्यु का कारण सिर पर चोट आना बताया गया है एवं मृत्यु की प्रकृति होमिसाइडल ( हत्याकारी ) बताते हुए सिर की हड्डी में फ्रेक्चर आना लेख किया गया है। पीएम रिपोर्ट के आधार पर ही अपराध धारा 302 भादवि का होना डॉक्टर द्वारा बताए जाने पर अपराध धारा सदर का अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध कायम कर विवेचना में लिया गया है।
इधर अब मृतक के पिता फूलचंद रजक अपने बेटे की हत्या के लिए पांच लोंगो पर शंका जाहिर करते न्याय के लिए वरिष्ठ अधिकारियों तक गुहार लगा रहे हैं। एफआईआर में लेटलतीफ के चलते मृतक का परिवार न्याय से वंचित हैं।
प्रथम दृष्टया 19 / 09 / 20 को मर्ग डायरी आईपीसी की धारा 302 में तब्दील हो चुकी है। अब देखना ये है कि इस मामले में की गई उपेक्षा पूर्ण विवेचना में पुलिस विभाग द्वारा विवेचना अधिकारी पर क्या कार्यवाही की जाती है। मृतक के पिता फूलचंद ने जिले के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल से भी मुलाकात कर दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की मांग की है। एसपी भोजराम पटेल ने उन्हें आश्वस्त किया है।
इस मामले में जानकारी के लिए इस प्रतिनिधि ने थाना प्रभारी देवभोग हर्षवर्धन बैस से मोबाइल पर सम्पर्क किया , तब उन्होंने की थाना आने पर आपको जानकारी दी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *