बिलासपुर वॉच

एक बार फिर अस्पताल ले जाते डायल 112 वाहन में प्रसूता का हुआ सफल प्रसव

Share this

एक बार फिर अस्पताल ले जाते डायल 112 वाहन में प्रसूता का हुआ सफल प्रसव

 सुरेश सिंह बैस

बिलासपुर।एक बार फिर गर्भवती महिला के लिए डायल 112 फरिश्ता बनकर सामने आई। पिछले मई महीने में डायल 112 को लगातार प्रसव संबंधी 311 सूचना प्राप्त हुई जिसमें से चार प्रसूताओं को अस्पताल जाते समय रास्ते में ही 112 वाहन में सुरक्षित डिलीवरी कराई गई। छत्तीसगढ़ में जन कल्याण और आपातकालीन सेवा के दृष्टिकोण से गर्भवती महिलाओं को अस्पताल पहुंचाने के लिए डायल 112 सेवा काम कर रही है। इसी कड़ी में मस्तूरी डायल 112 को सूचना प्राप्त हुई कि एक गर्भवती प्रसव पीड़ा से व्याकुल है,

जिसे अस्पताल ले जाना है। उनके पास अस्पताल ले जाने के लिए कोई साधन नहीं था। 112 की टीम तत्काल मौके पर पहुंची, जिससे बच्चा और प्रसूता दोनों को नया जीवन मिला। ग्राम नेवारी मस्तूरी में एक गर्भवती महिला सविता भैना के लिए डायल 112 सेवा, फरिश्ता साबित हुई। प्रसव पीड़ा उठने पर घर से अस्पताल जाने के लिए कोई साधन नहीं मिल रहे थे तो घर वालों ने 112 को सूचना दी, जो तुरंत मौके पर पहुंची लेकिन अस्पताल ले जाने के दौरान ही रास्ते में प्रसव पीड़ा तेज हो गई। रास्ते में ही परिजनों के निवेदन पर वाहन को रोका गया। आरक्षक सुरेश कुमार पटेल और चालक सूर्य नारायण सागर द्वारा डिलीवरी हेतु आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई गई। मितानिन और परिजनों की सहायता से गाड़ी में ही महिला का सुरक्षित प्रसव कराया गया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं, जिन्हें प्राथमिक उपचार के लिए स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है। महिला और उसके परिजनों ने डायल 112 और बिलासपुर पुलिस की सरहाना की है। पुलिस अधीक्षक ने भी आरक्षक और चालक की सराहना की है। इसके साथ एसपी ने भी आम लोगों से कहा है कि वे किसी भी अपराध, आपराधिक घटना, दुर्घटना या किसी भी विषम परिस्थिति में पुलिस की सहायता की जरूरत होने पर पुलिस सहायता के लिए बिना झिझक डायल 112 पर कॉल करें या अन्य माध्यम से पुलिस को सूचित करें।पुलिस आम जनता की सहायता के लिए हमेशा तत्पर रहती है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *