बिलासपुर वॉच

उपचार के बाद पैसे की मांग करने वाले बिल्हा एमसीएच की स्टॉफ नर्स निलंबित , दो स्टॉफ की सेवा समाप्त

उपचार के बाद पैसे की मांग करने वाले बिल्हा एमसीएच की स्टॉफ नर्स निलंबित , दो स्टॉफ की सेवा समाप्त

वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर के आदेश पर ज्वाइंट डायरेक्टर हेल्थ ने की कार्यवाही

बिलासपुर। अस्पताल में प्रसव पीड़ा के दौरान डिलीवरी के भर्ती होने वाली महिलाओं व उनके परिजनों से पैसे की मांग करने वाले तीन कर्मचारियों का एक विडिओ वायरल हुआ। जिला कलेक्टर अवनीश कुमार ने इसे संज्ञान में लेते हुए इसपर कार्यवाही के निर्देश दिए जिसके बाद सीएमएचओ डॉक्टर अनिल श्रीवास्तव ने कार्यवाही के लिए ज्वाइंट डायरेक्टर डॉक्टर जेपी आर्या को पत्र प्रेषित किया। इसके बाद जेड़ी ने कार्रवाई करते हुए परिजन से पैसा लेने पर स्टॉफ नर्स को निलंबित किया गया है। वहीं जीवनदीप समिति के अंतर्गत काम करने वाले दो कर्मचारियों की सेवा समाप्त कर दी गई है। सीएमएचओ डॉ. अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि बिल्हा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से शिकायत मिली थी कि वहां संचालित 50 बिस्तर के मातृशिशु अस्पताल में उपचार करने वाली प्रसुता और उनके परिजनों से पैसे की मांग की जाती है। इस संबंध में शिकायत के साथ एक विडियों भी प्राप्त हुआ। इसमें एमसीएच में कार्यरत स्टॉफ नर्स संध्या तिग्गा के द्वारा बच्ची के जन्म होने पर उसके परिजन से पैसे लेती हुई नजर आ रही है। जो सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के विपरित है। ऐसे में स्टॉफ नर्स संध्या तिग्गा को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन की अवधि में इनका मुख्यालय जिला अस्पताल बिलासपुर किया गया है। इसके साथ हि खण्ड चिकित्सा अधिकारी बिल्हा द्वारा जीवनदीप समिति में कार्यरत उदल पटारे और सीता बाई पर भी पैसा लेने पर कार्यवाही करते हुए दोनो को सेवा से पृथक किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *