बिलासपुर वॉच

नित हो रहे अपराध को लेकर पूर्व विधायक ने मौजूदा विधायक पर कसा तंज

नित हो रहे अपराध को लेकर पूर्व विधायक ने मौजूदा विधायक पर कसा तंज

सुरेश सिंह बैस

बिलासपुर। जिले में लगातार हो रही आपराधिक घटनाओं को लेकर पूर्व विधायक शैलेष पैंडेय ने शहर के भाजपा नेता अमर अग्रवाल पर तंज कसते हुए कहा कि अब अपराध मुक्त शहर और शांति का टापू बनाने की दुहाई देने वाले चुप क्यों हैं। रोज हत्या एवं लूट की वारदात हो रही है। कहीं-कहीं स्कूलीबाजी हो रही है। सरकारी नौकरी के दावे दिख रहे हैं। सुशासन बाबू चुनाव के पहले डीगें मार रहे थे कि शहर को अपराध मुक्त बना देंगे। शांति का टापू बनाने की कहानी थी। अब अवसादग्रस्त हो गए हैं। शहर के व्यवसायी और गुंडो के अनुयायी हो गए हैं और भाजपा के नेता बन गए हैं। भाजपा शासन काल में सबसे ज्यादा आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। कल ही खमतराई अटल आवास के पास पांच लोगों ने मिलकर पंकज उपाध्याय नामक युवक की फावड़ा से पीट पीटकर हत्या कर दी। ढाबों में लूट और मारपीट हो रही है। पुराणों की प्राचीन मूर्तियां चोरी हो रही हैं और दावे बाजी करने वाले भाजपा नेता चुप क्यों हैं। भाजपा के खोखली बयान में कहा गया है कि पूर्व विधायक शैलेश पांडे ने कहा है कि जब-जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है, तब-तब लूट और हत्या की घटनाएं हो रही हैं। दोस्तों के साथ दोस्ती हो रही है। सरकंडा क्षेत्र में एक छात्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। शहर में पुलिस डिपार्टमेंट की पोल खुलती नजर आ रही है। अब शहर को अपराध मुक्त बनाने वाले भाजपा के बयानबाज नेता चुप क्यों हैं।
चुनावी प्रचार के दौरान शहर की जनता से झूठ बोलते हुए कहा था कि शहर को शांति का टापू बना देंगे। लेकिन उनके फिर से विधायक बनते ही शहर में अपराध बढ़ाने लगे। जिले में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र हैं। लोग हर दिन लूट का शिकार हो रहे हैं। दिनदहाड़े हत्या हो रही है। लूट एवं अपहरण की वारदात हो रही है। दिनहाड़े घर में चोरी हो रही है। अपराधी बेख़ौफ़ घूम रहे हैं। 2 दिन पहले ही स्कूल में पढ़ने गये दो मासूम बच्चों की हत्या कर दी गई और प्रशासन और पुलिस और भाजपा के नेता मौन हैं। 500 साल पुरानी गरुड़ की मूर्ति मल्हार के मंदिर से चोरी हो रही है । और सैकडो मध्यम वर्ग के परिवार ऑफ़लाइन रिजर्व के शिकार हो रहे हैं। भाजपा सरकार आम जनता को सुरक्षा प्रदान करना पूरी तरह से विफल है। शहर के विधायक अमर अग्रवाल डीगें‌ हांक रह रहे हैं। और अपराध को रोकने में पूरी तरह से विफल हैं। आज शहर के लोग रात के घर से बाहर निकलने में डर रहे हैं। हर परिवार आज डर रहा है कि कब उनके घर में चोरी हो जाए, जाने कब उनके बच्चे स्कूल से गायब हो जाएं और कब उनके पैसे निकल जाएं। शांति का टापू बनाने वालों से जनता पूछ रही है कि अपराध पर नियंत्रण रखें और शहर को शांति का टापू बना दें। दिनदहाड़े लूट एवं हत्या की वारदात हो रही है। एक हफ्ते में चार लोगों की चार हत्याएं हुईं। यहां यातायात विभाग द्वारा सड़क सुरक्षा सप्ताह चलाया जा रहा है। लेकिन हर दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। और सड़क दुर्घटना में बच्चों की मौत हो रही है। प्रशासन की लापरवाही से छोटे- छोटे मासूम बच्चों की पानी में डूबने से मौत हो रही है। तय है कि इस शहर में प्रशासन कहां-कहां रहने वाला है और भाजपा के नेता बड़े पैमाने पर इस काम में शामिल नहीं हो रहे हैं। शहर के विधायक अमर अग्रवाल ने तो यहां तक कहा था कि किसी भी अपराधी को संरक्षण न देने से पूरी तरह से भाजपा सरकार में सुशासन हो जाएगा । लेकिन यहां तो अपराधी बाखौफ घूम रहे हैं। विश्विद्यालय में छात्रों की परेशानियां लगातार बढ़ रही है । पुलिस अंतिम स्थान पर काम कर रही है। तो फिर वर्सेटाइल क्यों हो रहा है। पूर्व विधायक शैलेश पैजेंड ने पुलिस पर भी कटाक्ष की और कहा कि यहां एसपी और आईजी कांस्टेबिल व्हीकल चौक पर गैस और नाकेबंदी के लिए बयान जारी कर रहे हैं। रोज पुलिस होटल और ढाबे में छाप मार रही है लेकिन यहां तो होटल और ढाबे में ही लूट की घटनाएं हो रही हैं। पुलिस आखिर कर क्या रही है? और 2 महीने पहले तक कांग्रेस को कोसने वाले भाजपा नेता चुप क्यों हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *