बिलासपुर वॉच

आईजी डॉ संजीव शुक्ला ने की विभागीय कार्यों की समीक्षा

आईजी डॉ संजीव शुक्ला ने की विभागीय कार्यों की समीक्षा 

– सुरेश सिंह बैस
बिलासपुर। मैं आईजी डॉक्टर संजीव शुक्ला ने विभागीय कार्यों की समीक्षा हेतु एक मीटिंग में मातहत अधिकारियों को अपराध के नियंत्रण के लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं। रेंज पुलिस महानिरीक्षक डॉ. संजीव शुक्ला (आईपीएस) जिला पुलिस के सभी राजपत्रित अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) राजेंद्र जयसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुलिस (ग्रामीण) श्रीमती दीक्षा झा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (आईयूकाँ) श्रीमती दीक्षित गुड़िया, नगर पुलिस अधीक्षक (सिविल लाइन) संदीप पटेल (आईपीएस), नगर पुलिस कप्तान (सिटी पासपोर्ट) श्रीमती पूजा कुमार (आईपीएस), सहयोगी अजय कुमार, उप पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) उदयन बेहार, उप पुलिस कप्तान (चकरभाठा) कृष्ण कुमार पटेल, उप पुलिस अधीक्षक ए. जे.ए.क., डेरहा राम टंडन, अनुविभागीय पुलिस अधीक्षक (कोटा) सिद्धार्थ बघेल, उप पुलिस अधीक्षक (लाइन) श्रीमती मंजुलता केरकेट्टा, उप पुलिस अधीक्षक (यातायात) संजय साहू, अनुविभागीय उप पुलिस अधीक्षक रोशन आहूजा, रक्षित निरीक्षक, जिला के समस्त थाना कार्यालय प्रभारी, महिला, आजाक, एसीसीयू प्रभारी, पुलिस अधीक्षक कार्यालय स्टेनो, रीडर, शिकायत शाखा, डीएसबी और चुनाव सेल के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।पुलिस महानिरीक्षक संजीव शुक्ला शुक्ला मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन, गृह मंत्री छत्तीसगढ़ शासन, पुलिस मुख्यालय द्वारा दिए गए निर्देश, क्राइम कंट्रोलर, कमांडो सुरक्षा और व्यवस्था व्यवस्था के निर्देश प्राप्त किए गए। थाना ऑफिस में विजुअल पुलिसिंग, फोर्स पुलिसिंग, नाइट गैस्ट, स्कूल कॉलेज सप्लाई बंद होना और सुबह और शाम 6 से 11 बजे तक थाना पेट्रोलिंग का सही उपयोग, अवैध नशा नारकोटिक्स आदि पर फैक्ट्री के साथ संयुक्त स्टॉक, अवैध ट्रांसपोर्ट – उत्थान पर प्रशासन के साथ युनाइटेड सैक्स, जुआ, सट्टा, गुंडा बदमाश, निगरानी बदमाश आदि पर कार्रवाई और नए कानून के लोगो को जानकारी और कार्यवाही निर्देश दिए गए। जिले के सड़क दुर्घटना को रोकने के लिए दिए गए निर्देश सुरक्षित और सुविधाजनक व्यवस्था निर्माण और आकस्मिक चिन्हांकित स्थान पर व्यवस्था निर्माण निदान के लिए सर्वेक्षण कर जानकारी और सुधार करने के निर्देश दिए गए। समय-समय पर मिल रही शिकायत और आपराधिक कार्रवाई को रोकने के लिए और सभी राजपत्रित अधिकारियों को थाने के कामकाज की निगरानी करने के लिए बेहतर पुलिसिंग कर आपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था से जिला को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा आवश्यक निर्देश सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *