देश दुनिया वॉच प्रांतीय वॉच

Exit Poll 2023: देखिए 5 राज्यों को सबसे सटीक ‘TARGET महापोल’

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना सहित 5 राज्यों में उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद हो चुकी है। अब विधानसभा चुनाव के माहा पोल सामने आए हैं। इनमें यह अनुमान सामने आया है कि किस राज्य में किसकी सरकार बनने की संभावना है। राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अभी कांग्रेस की सरकार है, जबकि मध्य प्रदेश में भाजपा के हाथ में सत्ता है। इन तीनों ही राज्यों में भाजपा और कांग्रेस के बीच ही सीधी टक्कर है।

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनती दिख रही है। EXIT POLL के मुताबिक राज्य में कांग्रेस को 50 से 55 सीटें मिल सकती हैं, जबकि भाजपा को 33 से 38 सीटों पर सिमटती दिख रही है। राज्य में कुल 90 सीटें हैं, जिनमें से 1 से 5 सीटें अन्य के खाते में जा सकती हैं।

तेलंगाना में BRS और कांग्रेस में जबरदस्त टक्कर दिख रही है। के चंद्रशेखर राव की पार्टी की हवा तो बहुत थी, लेकिन मतदान के बाद कांग्रेस की भी लहर दिखने लगी है। हालाँकि, BRS और AIMIM का गठबंधन अपने बल पर आसानी से बहुमत प्राप्त कर रहा है। लेकिन, 10 से 20 सीटें मिलती दिख रहीं हैं, वहीं TDP को 25 से 35 सीटें मिलती दिख रहीं हैं, यदि कांग्रेस और TDP हाथ मिला लें तो समीकरण बदल सकता है। भाजपा को यहाँ अधिक से अधिक 5 से 10 सीटें मिलती दिख रही है।

पूर्वोत्तर राज्य मिजोरम में स्थानीय दलों का दबदबा देखने को मिल रहा है। यहाँ सत्ताधारी MNF को राज्य की कुल 40 सीटों में से 20 -22 सीटें, ZPM को 16-18 सीटें मिलती दिख रही है। यहाँ बहुमत का आंकड़ा 21 है। कांग्रेस और भाजपा को यहाँ 2 से 5 सीटें मिलती दिखाई दे रहीं हैं।

मध्य प्रदेश में 230 सीटों पर मतदान हुआ था और बहुमत का आंकड़ा 116 है। यहाँ कांग्रेस को मध्य प्रदेश में 112 से 125 सीटें मिलती दिख रहीं हैं, यानी पार्टी बहुमत हासिल कर सकती है। वहीं, भाजपा भी ज्यादा पीछे नहीं है, उसे 110 से 122 सीटें मिलती दिख रही हैं। मध्य प्रदेश में 2 से 8 सीटें अन्य के खाते में जा सकती हैं।

राजस्थान में एग्जिट पोल के मुताबिक, यहां कांग्रेस और भाजपा में कांटे की टक्कर है। यहां कांग्रेस 95-105 सीटों के साथ बहुमत की लाइन पर दिख रही है, वहीं भाजपा भी 90 से 100 सीटों के अनुमान के साथ अधिक पीछे नहीं है। जबकि, अन्य को 5 से 15 सीटें मिलती दिख रहीं हैं, यदि राज्य में कोई दल बहुमत से थोड़ा पीछे रह जाता है, तो अन्य की भूमिका किंगमेकर की हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *