रायपुर वॉच

छत्तीसगढ़ को एक और मेडिकल कॉलेज की सौगात, इसी सत्र से 100 MBBS सीटों पर होगा दाखिला

रायपुर: महासमुंद मेडिकल कॉलेज को राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग की मंजूरी मिल गई है। यहां 100 सीटों पर इसी सत्र से मेडिकल की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। मेडिकल कॉलेज महासमुंद को राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग के नार्म्स के मुताबिक आवश्यक संसाधन मुहैया कराने की पहल की गई है।

आयोग की इस स्वीकृति के बाद अब इसी सत्र से कॉलेज में अध्यापन कार्य शुरू हो जाएगा। छत्तीसगढ़ के चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने इस उपलब्धि पर खुशी जाहिर की है।

टीएस सिंहदेव ने ट्वीट किया है कि “सभी प्रदेशवासियों को यह सूचित करने में सुखद अनिभूति हो रही है कि छत्तीसगढ़ को महासमुंद जिले में 100 MBBS सीट की क्षमता के मेडिकल कॉलेज की स्थापना का अनुमोदन प्राप्त हो गया है। इस कॉलेज की स्थापना से राज्य के डॉक्टर बनने के आकांक्षी युवाओं को बेहतर अवसर प्राप्त होंगे। महाविद्यालय में अध्यापन कार्य इस सत्र से ही शुरू हो जाएगा। साथ ही यह मेडिकल कॉलेज क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि ले कर आएगा। हमारा छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सुविधाओं व चिकित्सा शिक्षा में नित नई उपलब्धियां प्राप्त कर रहा है। समस्त प्रदेशवासियों को इसकी हार्दिक बधाई।”

प्रदेश में दो साल पहले कांकेर, महासमुंद व काेरबा जिले में नए मेडिकल कॉलेज खोलने की मंजूरी मिली थी। इसके बाद तीनों जिलों में मेडिकल कॉलेज की तैयारी शुरू हुई। पिछले साल एनएमसी के निरीक्षण के बाद कांकेर को मान्यता मिली थी।

इस बार मान्यता की दौड़ में महासमुंद और कोरबा मेडिकल कॉलेज थे। करीब 2 महीने पहले एनएमसी ने दोनों कॉलेज का एक ही दिन वर्चुअल निरीक्षण किया था। उसके बाद से फाइनल रिपोर्ट का इंतजार चल रहा था।

शुक्रवार को एनएमसी ने एक रिपोर्ट जारी की, जिसमें महासमुंद मेडिकल कॉलेज को शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए 100 सीट के चिकित्सकीय शिक्षा के लिए मान्यता प्रदान कर दी गई है।

प्रदेश में शासकीय मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीटों में बढ़ोतरी होने से मेडिकल की शिक्षा के साथ ही मरीजों को अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं का लाभ मिल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *