Friday, December 9, 2022
प्रांतीय वॉच

बिलासपुर : आकाश BYJU’S के 2 छात्रों ने जेईई मेन्स 2022 के पहले सत्र में 99 प्रतिशत अंक प्राप्त किए

 बिलासपुर: बिलासपुर में आकाश बायजू के 2 छात्रों ने जेईई मेन्स 2022 परीक्षा के पहले सत्र में 99 पर्सेंटाइल और उससे अधिक अंक प्राप्त कर संस्थान और शहर को गौरवान्वित किया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने कल रात नतीजे घोषित किए। इस साल आयोजित होने वाली इंजीनियरिंग के लिए दो संयुक्त प्रवेश परीक्षाओं में से यह पहली थी।
शीर्ष स्कोरर अद्वितिया गोयल हैं जिन्होंने 99.79 और सर्वेश सिंह ने 99.3 स्कोर किया।
इन छात्रों ने आईआईटी जेईई क्रैक करने के लिए टू ईयर क्लासरूम प्रोग्राम के तहत आकाश इंस्टीट्यूट ज्वाइन किया था। इसे दुनिया की सबसे कठिन प्रवेश परीक्षाओं में से माना जाता है। उन्होंने कॉन्सेप्ट समझने के लिए किए गए अपने प्रयासों और लर्निंग शेड्यूल का पालन करते हुए टॉप पर्सेंटाइल के साथ जेईई की टॉप लिस्ट में अपनी जगह बनाई है। इस मौके पर छात्रों ने कहा, हम आकाश इंस्टीट्यूट के आभारी हैं, जिसने हमें दोनों तरह से मदद पहुंचाई। इंस्टीट्यूट की कंटेंट और कोचिंग के बाद हमें विभिन्न विषयों में अन्य कॉन्सेप्ट में उलझने की जरूरत नहीं पड़ी।
छात्रों को बधाई देते हुए  आकाश चौधरी, मैनेजिंग डायरेक्टर, आकाश बायजूस ने कहा, “हम इस उपलब्धि के लिए सभी छात्रों को बधाई देते हैं। देशभर से जेईई मेन 2022 के पहले सेशन के लिए 9 लाख से ज्यादा छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। टॉप पर्सेंटाइल हासिल करने की उपलब्धि इन छात्रों के कठिन परिश्रम व समर्पण और उनके माता-पिता के सहयोग का परिणाम है। हम उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।“
उन्होंने आगे कहा, ‘महामारी के कारण प्रभावित एकेडमिक वर्ष में छात्रों को जेईई में टॉप पर्सेटाइल पाने में सक्षम बनाने के लिए आकाश बायजूस ने अतिरिक्त प्रयास किया। हमने अपनी डिजिटल प्रजेंस को बढ़ाने की दिशा में काम किया, जिससे हम हमेशा अपने छात्रों के लिए उपस्थित रह सकें। हमें स्टडी मैटेरियल और क्वेश्चन बैंक को ऑनलाइन उपलब्ध कराया। हमने वर्चुअल माध्यम से कई मोटिवेशनल सेशन और सेमिनार भी आयोजित किए, जिससे छात्रों को परीक्षा की तैयारी और टाइम मैनेजमेंट स्किल में मदद मिली। यह देखना सुखद एहसास है कि हमारे प्रयास सफल रहे और यह स्कोर शीट में हमारे छात्रों के प्रदर्शन से स्पष्ट है। इनमें से बहुत से छात्र उच्च शिक्षा के लिए अपनी पसंद के टॉप आईआईटी या एनआईटी या सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश पाएंगे।‘
छात्रों को अपना स्कोर सुधारने का मौका देने के लिए जेईई (मेन) दो सत्रों में आयोजित किया जाता है। जहां जेईई एडवांस्ड केवल इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) में प्रवेश के लिए होता है, वहीं जेईई मेन से कई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) और देश के अन्य सरकारी व सरकार से सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश का मौका मिलता है। जेईई एडवांस्ड में बैठने के लिए जेईई मेन पास करना अनिवार्य होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *