रायपुर वॉच

12 जून को रायपुर में होगी छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ की अहम बैठक

रायपुर। राज्य में संविदा कर्मचारियों का एक बड़ा घटक मनरेगा कर्मी नियमितीकरण की मांग को लेकर बीते 2 महीने से अधिक से हड़ताल पर हैं. आंदोलन को लेकर सरकार का ढुल-मुल रवैया और मनरेगा के 21 सहायक परियोजना अधिकारियों की सेवा समाप्ति को लेकर प्रदेश के 54 विभागों के संविदा कर्मचारियों का सबसे बड़े संगठन छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ भी अब इस आंदोलन में कूदने की मंशा बना रहा है. इस संबंध में महासंघ के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों की एक बैठक 12 जून को रायपुर में होगी.

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष कौशलेश तिवारी के अनुसार, राज्य के संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर मुख्यमंत्री ने पूर्व में घोषणा की थी, जिसके लिए कमेटी का गठन किया गया था. परंतु कमेटियों के बार-बार गठन करने और उनकी अनुशंसा रिपोर्ट अभी तक सार्वजनिक न करने को लेकर संविदा कर्मचारियों में रोष व्याप्त है. इसी दौरान मनरेगा के संविदा कर्मचारियों के आंदोलन को जिस प्रकार से राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा हतोत्साहित किया गया और 21 कर्मचारियों की सेवा समाप्ति की गई, उससे प्रदेश के संविदा कर्मचारियों में आक्रोश पनप रहा है. स्थिति को देखते हुए छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ राज्य सरकार से नियमितीकरण की मांग को जल्द से जल्द पूरा करने का अनुरोध किया है, अन्यथा प्रदेश के समस्त संविदा कर्मचारी भी अब आंदोलन पर जाने को बाध्य होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *