देश दुनिया वॉच

हजारों किसानों ने सभा रैली कर महासमुंद जिलाधीश के भृत्य के माध्यम से भेजा मुख्यमंत्री के नाम 12 सूत्रीय मांग पत्र,जिसमें एसडीएम महासमुंद द्वारा हाईवे शिव मंदिर तोड़कर शिव मूर्ति के चोरी पर सम्प्रदायिकता फैलाने का लगाया प्रमाणित आरोप संवैधानिक कार्यवाही की मांग-किसान मोर्चा

रायपुर :  हाईवे में स्थित गांव खैरझिटी,कौंवाझर,मालीडीह के कृषि भूमि,वन भूमि,गरीबों का काबिल कास्त भूमि,आदिवासी भूमि में गैर कानूनी ढंग से करणी कृपा स्टील एवं पावर प्लांट लगाने के विरोध में विगत 25 फरवरी 2022 से किसानों द्वारा छत्तीसगढ़ संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले अखण्ड धरना सत्याग्रह चल रहा है।आज सत्याग्रह के 102 वें दिन अखण्ड धरना सत्याग्रह के 100 पूरा होने के समर्थन में सत्याग्रही किसानों द्वारा 6 जून को 12 बजे महासमुंद में ” किसान मार्च ” का आयोजन किया गया।

जिसका नेतृत्व राज्य आंदोलनकारी किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री अनिल दुबे, प्रवक्ता जागेश्वर प्रसाद, प्रदेश किसान नेता वेगेन्द्र सोनवेर,लालाराम वर्मा, छन्नू साहू,श्रीधर चंद्राकर, डॉ.पंचराम सोनी, बृजबिहारी साहू,अशोक कश्यप,नंदकिशोर यादव आदि ने किया।आज हजारों सत्याग्रही महिला किसान,किसान एवं जवान

12 बजे लोहिया चौक में एकत्रित हुए जहां सभा हुई ।सभा को राज्य आंदोलनकारी किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री अनिल दुबे,जागेश्वर प्रसाद, वेगेन्द्र सोनवेर, लालाराम वर्मा, श्रीधर चंद्राकर,छन्नू साहू, गोवर्धन वर्मा,नंदकिशोर यादव,चैनुराम साहू, जीवनलाल साहू, नंदलाल सिन्हा,तारेंद्र यादव, नंदकुमार साहू,अखलराम साहू,परसराम ध्रुव,शत्रुघन साहू, श्रीमती डिगेश्वरी चंद्राकर,ननकुनिया पारधी,राधबाई सिन्हा,नीरा ध्रुव सरपंच,डेजीरानी नेताम आदि संबोधित करेंगे।

किसानों की सभा को संबोधित करते हुए राज्य आंदोलनकारी किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री अनिल दुबे ने कहा कि महासमुंद जिले के कलेक्टर,एसडीएम, तहसीलदार सहित अन्य अधिकारी करणी कृपा स्टील एवं पावर प्लांट के निजी नौकर की तरह काम कर रहे हैं।जो अप्रजातांत्रिक है एवं अशोभनीय है।किसान मोर्चा इस कृत्य की घोर निंदा करती है।

महासमुंद जिले के पटवारी से लेकर तहसीलदार, एसडीएम, कलेक्टर सभी लाखों करोड़ों रुपये के लालच में आकर आदिवादी भूमि, काबिल कास्त भूमि,वन भूमि,चारागाह भूमि को रजिस्ट्री करने में संलिप्त हैं।

इस भ्र्ष्टाचार की जाँच व कार्यवाही करने के लिए राज्यपाल, मुख्यमंत्री एवं आयुक्त रायपुर को शिकायत किया गया है। साथ ही एसडीएम महासमुंद की संपत्ति की जांच की भी मांग की है।

महासमुंद एसडीएम द्वारा हाइवे शिव मंदिर को तोड़कर शिव मूर्ति के चोरी कर सम्प्रदायिकता फैलाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने ने आगे यह भी कहा कि यदि 11 जून तक किसानों की मांगों पर उचित एवं त्वरित कार्यवाही नहीं किया गया तो खैरझिटी,कौंवाझर, मालिडीह एवं कुकराडीह चारों गांव में बंद का आयोजन किया गया है।

प्रथम चरण में ये गांवों के बाद दूसरे चरण में नगर पंचायत तुमगांव और भविष्य में महासमुंद जिला एवं राजधानी रायपुर में भी बंद की कार्यवाही की जाएगी।सभा के पश्चात दोपहर 3 बजे हजरों सत्याग्रही किसान लोहिया चौक से जिलाधीश कार्यालय की ओर कूच किया ।

जिलाधीश कार्यालय पहुँच कर देश के इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री के नाम 12 सूत्रीय मांग पत्र जिलाधीश के जगह जिलाधीश कार्यालय के भू अभिलेख शाखा के भृत्य श्री दीपक राय को ज्ञापन सौंपा गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *