देश दुनिया वॉच पॉलिटिकल वॉच

महापौर रामचरण यादव व कांग्रेसी पार्षद रामा बघेल के बीच वाकयुद्ध

महापौर रामचरण यादव व कांग्रेसी पार्षद रामा बघेल के बीच वाकयुद्ध
नगर वासियों ने महापौर को सदन से बाहर जाने का दृष्य भी देखा
बिलासपुर | 8 अप्रैल 2022 | लखीराम ऑडिटोरियम में  बिलासपुर नगर निगम की सामान्य सभा की बैठक का आयोजन किया गया. कांग्रेस के महापौर रामशरण यादव को कांग्रेस के ही पार्षदों ने नगर की पेयजल की जटिल समस्या को लेकर तीखे सवाल दागे. सामान सभा में कांग्रेस पार्षद रामा बघेल और कांग्रेस के महापौर रामचरण यादव के बीच तनातनी को लेकर नाराज महापौर ने सामान्य सभा का बाय काट कर सदन से बाहर जाने का दृष्य भी बिलासपुर के  नागरिकों ने देखा यह पहली घटना होगी  जिस प्रकार कांग्रेस भवन में भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में कांग्रेसियों को कांग्रेस भवन के अंदर ही पुलिस में लाठियों से पीटा.
इतिहास की पहली घटना, इसी प्रकार कांग्रेस शासित शासनकाल में कांग्रेस के महापौर व कांग्रेस के पार्षद के बीच तना तुनी को लेकर नगर के प्रथम नागरिक व महापौर को सदन का बहिष्कार कर सदन से बाहर जाने का मामला यह भी इतिहास में पहली बार लोगों ने देखा. आपको बताते चलें कि प्रश्नकाल के दौरान हंगामेदार सामान्य सभा के दौरान सभापति ने रामा बघेल पार्षद को 1 घंटे के लिए निलंबित भी किया था. प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष से ज्यादा सत्ता पक्ष के पार्षदों ने सवाल दागे इस दौरान सबसे अधिक चर्चा का विषय पेयजल से संबंधित रहा है.
पिछले कुछ समय में बिलासपुर शहर के वार्ड में पेयजल की सप्लाई लगातार बाधित हो रही है और खराब पाइपलाइन के चलते आए दिन पेयजल की समस्या लोगों को बनी रहती है.. सामान्य सभा के दौरान आधे से अधिक पार्षदों में पेयजल की समस्या को लेकर सवाल दागे इस दौरान जमकर हंगामा भी होता नजर आया.. सामान्य सभा की बैठक के बाद बिलासपुर नगर निगम के महापौर रामशरण यादव ने बिलासपुर नगर निगम का बजट भी पेश किया बता दें कि इस वर्ष बजट की राशि 9 अरब 43 करोड़ 46 लाख रुपये की रही.
नगर निगम की सामान्य सभा में पहली बार बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे अपनी उपस्थिति दर्ज कराई इस दौरान सामान्य सभा के अंतिम समय में उद्बोधन देते हुए नगर विधायक ने विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले वार्डों के विकास के लिए 2 करोड रुपए की राशि पार्षदों को लेने का ऐलान भी किया.. सामान्य सभा के दौरान अपने ही पक्ष के पार्षदों के हंगामे से महापौर रामशरण यादव इस कदर नाराज हो गए थे कि सामान्य सभा को समय से पहले ही सभापति ने खत्म कर दिया.
नगर निगम के कार्यरत कर्मचारी अधिकारियों के खिलाफ भी पार्षदों का गुस्सा जमकर उतरता नजर आया काम में लेटलतीफी और जनप्रतिनिधियों की बातों को न सुनने का खामियाजा नगर निगम आयुक्त को भुगतना पड़ा.

Kamlesh Lavhatre

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *