प्रांतीय वॉच

पानी का दबाव नहीं झेल पाया छीपा का स्टॉप डैम, गुणवत्ताहीन निर्माण के चलतें टूटा

तिलकराम मंडावी/डोंगरगढ़ : ग्राम छीपा के गौठान के पास स्थित स्टॉप डैम मंगलवार की षाम पानी के दबाव में टूट गया। गुणवत्ताहीन निर्माण के चलतें स्टॉप डैम दो साल के भीतर ही दम तोड़ दिया। डैम के कमजोर व गुणवत्ताहीन होनें की लिखित में जानकारी ग्राम पंचायत छीपा के जनप्रतिनिधियों ने कलेक्टर को दी थी। 22 अगस्त 2020 को सरपंच ओमप्रकाष लिल्हारे ने अपनें पत्र में बताया था 2016-17 में छीपा नाला में गौठान के समीप स्टॉप डैम बनाया गया है। जो कि छोटा है, जबकि पानी का बहाव तेज होनें से स्टॉप डैम के किनारें की मिट्टी पानी के बहाव में बह रही है। इसी वजह से डैम के किनारें से पानी बह जाता है और पानी स्टोरेज नहीं हो पाता। बताया गया कि यह ग्राम को जोड़नें वाला मुख्य स्टॉप डैम है। यहीं से गांव का वाटर रिचार्ज होता है और पेयजल की समस्या दूर होती है। ग्रामीणों की मंषा थी कि स्टॉप डैम के विस्तारीकरण व पचरीकरण होनें से पानी का कटाव रूक सकता है, जिससें डैम भी मजबूत हो जाएगा। लेकिन प्रषासन से इस समस्या की ओर ध्यान ही नहीं दिया और पत्र लिखनें के साल भर के बाद ही डैम टूट गया। मंगलवार को टूटनें के बाद पानी के बहाव में मिट्टी का कटाव तेजी से हुआ और वहां से निकल रही एक हाइवा भी पलट गई। जिसे क्रेन की मदद लेकर उठाया गया। गुणवत्ताहीन निर्माण व मांग के बावजूद ध्यान नहीं देनें से स्टॉप डैम पानी के बहाव में टूट गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *