रायपुर वॉच

Big News: पूर्व गृहमंत्री धरना पर बैठने की तैयारी में, तो बेटे ने कोतवाली में कराया FIR, बीजेपी में आपसी तकरार फिर आया सामने….

कोरबा । प्रदेश में एक तरफ कांग्रेस में दो फाड़ से टकराव की स्थिति निर्मित नजर आ रही है, तो वही बीजेपी भी इससे अछूती नही है। कोरबा में भाजपा नेता और पूर्व सहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे देवेंद्र पांडे के खिलाफ पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने मोर्चा खोल रखा है। ननकीराम कंवर जहां इस मामले में आज रायपुर में गृहमंत्री के बंगले के सामने धरने पर बैठने की रणनीति बना रहे है, वही ननकीराम कंवर के पुत्र संदीप कंवर की रिपोर्ट पर सोमवार की देर रात कोरबा में पुलिस ने भाजपा नेता देवेंद्र पांडे के खिलाफ धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि भाजपा शासन काल में एक वक्त तक पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर के काफी करीबी माने जाने वाले भाजपा नेता देवेंद्र पांडे आज ननकीराम के कट्टर दुश्मनों में एक हो गये है। ननकीराम कंवर और उनका पुत्र संदीप कंवर देवेंद्र पांडे के खिलाफ मोर्चा खोले हुए है। ननकीराम कंवर के पुत्र संदीप कंवर ने सोमवार को कोतवाली थाना में सृष्टि मेडिकल कॉलेज के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर का सदस्य बनाये जाने के नाम पर 20 लाख रूपये देवेंद्र पांडेय को देने और फिर सदस्य नही बनाये जाने की शिकायत किया है। संदीप कंवर का आरोप है कि 20 लाख रूपये लेने के बाद भी उन्हे बोर्ड में सदस्य नही बनाया गया, जिसके बाद देवेंद्र पांडे ने 20 लाख रूपये में से 10 लाख रूपये तो वापस कर दिये, लेकिन 10 लाख रूपये को अभी भी वापस न कर उनके साथ धोखाधड़ी किया गया है। मामला पुराना है, लेकिन राजनीतिक परवान चढ़ने के कारण सोमवार को संदीप कंवर की इस शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने भाजपा नेता और पूर्व सहकारी बैंक के अध्यक्ष देवेंद्र पांडे के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। उधर आज मंगलवार से ननकीराम कंवर ने गृहमंत्री के आवास के सामने धरना देने की बात कही थी। धरने पर बैठने के लिए ननकीराम कंवर सोमवार से ही रायपुर पहुंच गये है, लेकिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लखनऊ में होने और गृहमंत्री के राजधानी में नही होने के कारण अब धरना प्रदर्शन को टालने की बात कही जा रही है।

 चर्चा में पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने बताया कि रामपुर विधानसभा के करीब 60 से 70 किसानों की सालों पहले भूमि अधिगृहण कर लिया गया, लेकिन उन्हे आज तक मुआवजा नही मिला है। इसके साथ ही सहाकरी बैंक के पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र पांडे ने अध्यक्ष के पद पर रहते हुए करोड़ो रूपये का घोटाला किया, उसके खिलाफ अब EOW जांच करने से मना कर रही है। कहीं ना कही सरकार के लोग भ्रष्टाचार में लिप्त देवेंद्र पांडे को संरक्षण दे रहे है, जिसके कारण आज EOW भी जांच करने से पीछे हट रही है, इन्ही मुद्दों को लेकर मैं धरना पर बैठने के लिए रायपुर पहुंचा था, लेकिन मुख्यमंत्री और गृहमंत्री नही है, इसलिए अब उनसे चर्चा नहीं हो पाई है।

खैर भाजपा में ननकीराम कंवर और देवेंद्र पांडे की लड़ाई पुरानी है, लेकिन देवेंद्र पांडे की गिरफ्तारी और कड़ी कानूनी कार्रवाई को लेकर जिस तरह से पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर ने अपने ही पार्टी के नेता के खिलाफ मार्चा खोल रखा है, उससे अब आम लोगों के बीच बस यही चर्चा है कि प्रदेश में कांग्रेस के साथ साथ भाजपा में भी सब कुछ ठीक नही चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *