प्रांतीय वॉच

रेत माफियाओं का खुला खेल जारी अफसर गहरी नींद

जानिसार अख्तर/लखनपुर : सरगुजा जिले के लखनपुर ,उदयपुर के सरहद में बहने वाले रेणुका नदी पर रेत माफियाओं के द्वारा मशीनों के माध्यम से रेत का अवैध उत्खनन कर बड़े वाहनों में परिवहन करने का खेल लंबे समय से जारी है। तो वही खनिज विभाग के द्वारा कार्यवाही के नाम पर सिर्फ और सिर्फ खानापूर्ति किया जाता है। लखनपुर व उदयपुर क्षेत्र में रेत माफिया अवैध खनन करने में जुटे हुए हैं। वही विभाग के आला अधिकारी खामोशी से तमाशा देख रहे हैं। लखनपुर व उदयपुर क्षेत्र के ग्राम कवलगिरी, चैनपुर, तराजू, देवगढ़, जंमगला ,तीरकेला में नदी के अंदर से मशीन के माध्यम से रेत निकाला जा रहा है। साथ ही रेत का अवैध भंडारण करते हुए रेत माफियाओं के द्वारा सरगुजा जिले सहित अन्य जिलों में भी खापाया जा रहा है। जिसकी जानकारी माइनिंग विभाग के अफसरों को भी है इसके बाद भी अफसरों की खामोशी कई सवाल खड़े कर रही है। वही राजनीतिक दलों सहित स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद विभाग के द्वारा कार्यवाही के नाम पर खानापूर्ति कर दिया जाता है। रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन को लेकर पूर्व में जनता कांग्रेस जोगी सहित भाजपा युवा मोर्चा मंडल लखनपुर के द्वारा भी लखनपुर एसडीएम अनिकेत साहू सहित खनिज विभाग के अधिकारियों को ज्ञापन सौंप रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन पर अंकुश लगाते हुए रेत माफियाओं पर कार्यवाही करने की मांग की गई थी। मांग उपरांत विभाग के द्वारा रेत के अवैध उत्खनन व परिवहन पर अंकुश तो नही लगा सकी । परंतु विभाग अधिकारियों द्वारा कुछ वाहनों पर कार्यवाही कर खानापूर्ति करते हुए अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी गई। अब देखना होगा कि विभाग के आला अधिकारी रेत के अवैध उत्खनन तथा परिवहन को लेकर किस प्रकार की आगे कार्यवाही करते है।

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अनिकेत साहू

इस संबंध में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अनिकेत साहू से चर्चा करने पर उनके द्वारा कहा गया पूर्व में हमारे द्वारा संयुक्त टीम बनाकर अंबिकापुर के रेत माफियाओं पर कार्यवाही की गई थी । आगे भी संयुक्त टीम बनाकर रेत माफियाओं पर कार्यवाही की जाएगी। रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर भी अंकुश लगाया जाएगा।

खनिज निरीक्षक आर एन राजपूत 

खनिज निरीक्षक आर् एन राजपूत से चर्चा करने पर उनके द्वारा कहा गया कि शिकायत प्राप्त होने के उपरांत कार्यवाही की जाती है और आगे भी यह कार्यवाही की जाती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *