रायपुर वॉच

रमन सिंह नहीं होंगे 2023 विधानसभा चुनाव में भाजपा का चेहरा: पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, कहा- भाजपा पर आरोप लगाने वाले सीएम अपनी पार्टी का विवाद को सुलझा नहीं पा रहे

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ में होने वाली 2023 के विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा नेता का बड़ा बयान सामने आया है। भारतीय जनता पार्टी में सीएम चेहरे को लेकर भी समय समय पर चर्चाएं तेज हो जाती है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे मंगलवार को बिलासपुर पहुंचे। उन्होने भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा की। उनसे सवाल किया गया कि भाजपा के प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को सीए का चेहरा मानने से इनकार कर दी है तो भाजपा मुख्यमंत्री को चेहरा कौन होगा। तब पूर्व मंत्री ने कहा भाजपा में सीएम का चेहरा कमल फूल होगा और कोई नहीं। दोबारा सवाल किया गया क्या सीएम के दौड़ में आप शामिल हैं तो उन्होने कोई जवाब नहीं दिया।

सब नम्बर बढ़ाने के लिए किया जा रहा
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उत्तर प्रदेश में किसानों से रोकने के सवाल पर कहा ये सब नम्बर बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। कोई घंटो जमीन पर बैठ जा रहा है तो कोई झाड़ू लगा रहा है। भूपेश पहली बार सीएम बने हैं इससे पहले मंत्री भी रह चुके हैं नियम कानून उनको जानकारी तो होगी ही कि जहां 144 धारा लगा रहता है वहां जाने की परमिशन नहीं मिलती है।

काका और बाबा के बीच विवाद
पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने कहा भाजपा पर आरोप लगाने वाले सीएम अपनी पार्टी का विवाद को सुलझा नहीं पा रहे हैं तीन महीने से छत्तीसगढ़ में कुर्सी के लिए काका और बाबा के बीच विवाद चल रहा है। इनका सरकार चलाने की ओर ध्यान नहीं है।

टिकैत संतुष्ट हो गए तो भूपेश क्यों नहीं हो रहे हैं
पूर्व मंत्री ने कहा देश भर में किसानों के नाम पर आंदोलन करने वाले राकेश टिकैत वहां पहुंचे तो उनको पूरी घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी गई उस रिपोर्ट से जब टिकैत संतुष्ट हो गए तो भूपेश बघेल और कांग्रेसी क्यों नहीं हो पा रहे हैं।

पंचायत स्तर से लेकर विधानसभावार करेगें धरना
पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। पांडेय ने कहा कि राज्य सरकार गरीब कल्याण अन्न योजना में गरीबों का हक मार रही है। सरकार गरीबों का चावल डकारने वाली सरकार बन गई है। पाण्डेय ने कांग्रेस सरकार पर 1500 करोड़ से अधिक का चावल चोरी करने का आरोप लगाया है। इस मामले में भाजपा पंचायत स्तर पर सरकार को 7 व 8 अक्टूबर को धरना प्रदर्शन और 11से 12 अक्टूबर को विधानसभावार धरना करेंगेंं। केंद्र सरकार द्वारा प्रति व्यक्ति 5 किलो चावल देने की घोषणा की गई थी। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कहीं 3 किलो तो कहीं दो किलो चावल दिया गया है। इस दौरान जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ,गुलशन रिषी सहित अन्य भाजपा नेता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *