प्रांतीय वॉच

भारतीय बौद्ध महासभा ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के विचारों को गांव-गांव तक पहुंचाने का लिया निर्णय

  • छत्तीसगढ़ प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का वार्षिक सम्मेलन संपन्न

कमलेश लव्हात्रे/बिलासपुर : द बुद्धिस्ट सोसाइटी ऑफ इंडिया छत्तीसगढ़ प्रदेश के अध्यक्ष बी एस जागृत ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जानकारी दी कि भारतीय बौद्ध महासभा का प्रदेशिक पदाधिकारियों का एवं कार्यकर्ताओं का सम्मेलन आयोजित किया गया l डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी ने 1954 में द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया के लिए उन्होंने स्वयं 1लाख सदस्य बनाए थे और उसी आधार पर उन्होंने उपरोक्त संस्था का पंजीयन कराया था उसका पंजीयन क्रमांक 3227 / 55 एवं पीटी एफ नंबर 982 है ।वह स्वयं इस संस्था के संस्थापक अध्यक्ष थे । संस्था को प्रबुद्ध भारत के निर्माण के लक्ष्य एवं उद्देश्य को लेकर संस्था का निर्माण किया था तब से संस्था भारत गणराज्य के 21 राज्यों में संचालित है।

द बुद्धिस्ट सोसायटी आफ इंडिया विगत 50 वर्षों से छत्तीसगढ़ राज्य में संचालित है इस संस्था के पुराने कार्यकर्ता व केंद्रीय सदस्य एस आर कांडे जी को केंद्रीय कार्यकारिणी की साची स्थित दिनांक 21 फरवरी को आयोजित मीटिंग में सर्वसम्मति व बहुमत के आधार पर एसआर कांडे जी के उल्लेखनीय कार्यों को लेकर ट्रस्टी नियुक्त किया गया l एसआर कांडे जी केंद्रीय सदस्य एव ट्रस्टी का प्रदेश तथा जिला कार्यकारिणी के द्वारा तथा महिला समूह द्वारा भव्य स्वागत किया गया मोमेंटो भेंट किया गया।

मीटिंग के दौरान भारतीय बौद्ध महासभा के लिए उल्लेखनीय कार्य करने लगातार आजीवन सदस्य बनाने तथा वार्षिक सदस्य बनाने पर ग्रामीणों में लगातार बैठक आयोजित की गई और तहसील एवं विकास खंड स्तर पर इस संस्था के लिए हमारे पदाधिकारी लगातार काम कर रहे हैं l सर्वाधिक उल्लेखनीय कार्य रायपुर शहर द्वारा किया गया जिसमें आजीवन 153 सदस्य बनाए गए दुर्ग जिले द्वारा 77 आजीवन सदस्य बनाए गए जिला बालोद द्वारा 53 सदस्य बनाए गए जिला राजनांदगाँव 42 सदस्य जिला कुंडा गांव द्वारा37 आजीवन सदस्य बनाए गए इस प्रकार लगातार आजीवन सदस्य बनाने की प्रक्रिया सभी जिलों में है और अब तक 410 आजीवन हमारी संस्था द्वारा बनाए गए l

दुर्ग से सीकर डोंगरे अध्यक्ष, जिला बालोद वेदनाथ खोबरागडे महासचिव रामेश्वर रामटेके जिला राजनांदगांव सी एल मेश्राम सभी को उल्लेखनीय कार्य के लिए मोमेंटो दिया गया l इस मीटिंग के दौरान अधिक से अधिक आजीवन सदस्य बनाने ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण करने डॉक्टर बी आर अंबेडकर जी के विचारों को गांव-गांव तक पहुंचाने बुद्ध धम्म की शिक्षाओं का प्रचार प्रसार गरीबों की शिक्षा चिकित्सा तथा उनके स्वास्थ्य आवास एवं उच्च शिक्षा पर तथा जीवन में पंचशील का महत्व पर भी प्रकाश डाला गया l

इस कार्यक्रम में पूरे प्रदेश के लोगों ने जोर-शोर से अपने में मत रखो एंव कार्यक्रम का शोभा बढ़ाएं

सम्मेलन में एस आर काडे ट्रस्टी केंद्रीय सदस्य बी एस जागृत छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष भोजराज गोरखेडे महासचिव नीलकंठ सिंघाड़े कोषाध्यक्ष संस्कार प्रमुख सी बी खोबरागडे उपाध्यक्ष सीएल माहेश्वरी हेमंत कान्डे पुंडलीकराव खापर्डे संजय शिंदे अशोक डोंगरे संजय गजभिये जी एस बावनगड़े साहब बेनीराम गायकवाड बिम्बिसार सिद्धार्थ पाटील आर के चौहान मदन लाल मेश्राम मोतीमाला कोलेकर सुरेंद्र कोलेकर उनके बंजारी दिनेश रामटेके पी जेड़ मैं मेश्राम शैलेश बड़गे माया पार्टील रूपलता कोनेकर शशिकांत कवाड़े जी एस मेश्राम विजय चौहान सी एस कलस्कर योगेश गडपाल सुरेश गोंडाने में जी एम मेश्राम छाया मेश्राम चौहान पुष्लता जागृत प्रकाश रामटेके राम भाऊ डोंगरे राहुल रामटेके प्रकाश बालाधरे दिलीप टैंभूर्णी मरदन घोड़ेसवार संजय वासनिक उर्मिला भीमटे जिला दुर्ग से जितेंद्र मेश्राम बी आर कठाणे रामाराव ठोक डॉक्टर अरविंद चौधरी भींमराव वाहने राजनांदगांव से रामेश्वर रामटेके मंशाराम सिमकर अमृता कांडे विजय गनवीर तुलसी ब्म्बोडे बालोद से डब्लू आर वांनखेडे वेदनाथ खोबरागड़े दिनेश सुकदेवें सत्यभामा खरे जिला अर्जुंदा से नागेंद्र कामडे प्रवीण नोन रे जिला राजहरा से बी एल बौद्ध दिलीप सुखदेवे कमल कांत रामटेके मीरा बौद्ध जिला कोंडागांव से सी एल मेश्राम रामाकांत महाजन दिनेश मेश्राम संतोष सोनिपीरे आदि बहुत से बौद्ध धर्म के अनुयाई उपवास उपसिका इस कार्यक्रम में सम्मिलित हुए l

बी एस जागृत भारतीय बौद्ध महासभा छत्तीसगढ़ प्रदेश एवं उनके परिवार के सदस्य के द्वारा खैरागढ़ सहसपुर लोहारा सल्हेवारा क्षेत्र में अत्यंत गरीब बच्चे जिसके पास कोई जमीन नहीं है और जाय जा द नहीं है वे इन्जीनियर की पढ़ाई करना चाहते हैं उन गरीब बच्चों जिनके पास कोई जमीन नहीं है पढ़ाई कराना चाहते हैं उन गरीब बच्चों के लिए 5 बंडल पुस्तकें मंशाराम सीमनकर खैरागढ़ के प्रचार जो की सेवानिवृत्त हैं और बहुत विद्वान और कॉफी शिक्षित है उनका मिशन हैं गरीब बच्चों को शिक्षा के माध्यम से उच्च कोटि तक पहुंचाना l
संस्था के द्वारा यह निर्णय लिया गया कि हर जिलों में तहसील स्तर पर डॉ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर भवन के लिए जमीन तथा शिक्षा के लिए स्कूल आवास आदि क्रय संस्था की ओर से जिलेवार मीटिंग लेकर उनकी राय से गरीबों को मदद किस संस्था द्वारा सहायता पहुंचाई जाएगी मिशन के आगे बढ़ाने में होटल महिंद्रा के सभागृह में लगभग 120 लोग सम्मिलित हुए सहयोग करने का पुरा आश्वासन दिया l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *