प्रांतीय वॉच

पूर्व आईएएस डॉ सुशील त्रिवेदी को महात्मा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार, पुरष्कार के लिए अलग-अलग विधा से प्रतिभाओं का किया गया चयन 

रायपुर। पूर्व आईएएस डॉ सुशील त्रिवेदी को महात्मा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार की घोषणा की गई है। भारतीय-नार्वेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम के अध्यक्ष सुरेशचन्द्र शुक्ल-शरद आलोक ने महात्मा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार 2021 की घोषणा की है। यह पुरस्कार उत्तरप्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, सुरेशचन्द्र शुक्ल और नार्वे के पूर्व और होने वाले संसदीय मंत्री एस्पेन बार्ट आइदे द्वारा संयुक्त रूप से डिजिटल मंच पर 2 अक्तूबर को दिन में दो बजे प्रदान किए जायेंगे। महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय पुरष्कार के लिए अलग-अलग विधा से प्रतिभाओं का चयन किया गया है।

समाज सेवा – मारित नीबाक (तीन बार स्पीकर रहीं, नार्वे की पार्लियामेंट में), राजेन्द्र सिंह (जल पुरुष), मेधा पाटकर (प्रसिद्ध समाज सेवी), सुमेधा सत्यार्थी (समाज सेवी), हाइकी होल्मोस (पूर्व मंत्री),
पत्रकारिता – डॉ. सुशील त्रिवेदी, सम्पादक, छत्तीसगढ़ मित्र, रायपुर, राजीव रंजन श्रीवास्तव, सम्पादक, देशबंधु, नयी दिल्ली और सुधीर मिश्र, सम्पादक नवभारत टाइम्स, लखनऊ, वीरेन्द्र वत्स, पत्रकार, लखनऊ और तेज स्वरूप त्रिवेदी, सम्पादक, नयी दिल्ली।
विश्व प्रसिद्ध पर्वतारोही – बचेंद्री पाल (भारत की पहली एवरेस्ट पर चढऩे वाली महिला), नुंगशी मालिक और ताशी मालिक ( एवरेस्ट सहित 7 पहाडिय़ों और दक्षिण तथा उत्तरी ध्रुव की यात्रा करने वाली।)
शिक्षा में सेवा – डॉ. रजनीश शुक्ल, कुलपति महात्मा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा, डॉ. सुरेन्द्र सिंह कुशवाहा (पूर्व कुलपति राँची विश्वविद्यालय और महात्मा गाँधी काशी संस्कृत विश्वविद्यालय, प्रो. मोहन कान्त गौतम (नीदरलैंड), प्रो. योगेन्द्र प्रताप सिंह ( विभागाध्यक्ष हिन्दी, लखनऊ विश्व विद्यालय), डॉ. वीरेन्द्र सिंह यादव ( शकुन्तला मिश्रा दिव्यांग विश्व विद्यालय), डॉ. अनिल सिंह, काउन्सिल मुंबई विश्वविद्यालय, महाराष्ट्र।
नाट्य में योगदान – क्लिफ़ मुस्ताश (नूरदिक ब्लैक थिएटर), ओस्लो, यार्ल सूलबर्ग (नूरदिक ब्लैक थिएटर), ओस्लो, आनन्द शर्मा (निर्देशक), वैश्विका फिल्म लखनऊ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *