प्रांतीय वॉच

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में नगर निगम का सुनियोजित विस्तार व विकास: अनिल सिंह चौहान

कमलेश लव्हात्रे/बिलासपुर : जिला कांग्रेस कमेटी बिलासपुर के प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के वार्ड स्तरीय धरना प्रदर्शन को राजनीतिक ढोंग व नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक के साथ आपसी प्रतिस्पर्धा व गुटबाजी का परिणाम बताया।

जिला कांग्रेस प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने कहा कि अमर अग्रवाल जी नगरीय प्रशासन मंत्री रहते हुए अगर संवेदनशील व सक्रिय रहते तो बिलासपुर प्रदेश के द्वितीय दर्जे के जिलों से नहीं पिछड़ता। प्रदेश में रायपुर व बिलासपुर दो महत्वपूर्ण महानगर थे किंतु भाजपा शासनकाल में बिलासपुर विकास की रफ्तार में बहुत पिछड़ गया है। अब जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में बिलासपुर नगर निगम की सीमा का सुनियोजित विस्तार व विकास हो रहा है।

कांग्रेस के कुशल नेतृत्व कर्ताओं पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, महापौर रामशरण यादव, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, बिलासपुर विधायक शैलेश पांडेय, जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक सहित अन्य जन प्रतिनिधियों व वरिष्ठों द्वारा नगर के सुनियोजित विकास हेतु एक स्थायी व दूरगामी विजन के साथ कार्य योजना बनाकर कार्य किया जा रहा है। सीवरेज जैसी योजना ने दो दर्जन से अधिक लोगों की जान ले ली और सैकड़ो को स्थायी रूप से विकलांग कर दिया। ऐसी योजनाओं को योजनाबद्ध तरीके से प्रारम्भ किया जाएगा जिससे जन व धन की हानि न हो।

भाजपा की आपसी गुटबाजी व प्रतिस्पर्धा के साथ भाजपा प्रदेश प्रभारी द्वारा दिए गए टारगेट की पूर्ति के लिए अमर अग्रवाल व नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक जी अनर्गल मुद्दाविहीन धरना प्रदर्शन व आंदोलन कर रहे हैं।

जिला प्रवक्ता अनिल सिंह चौहान ने आरोप लगाया कि भाजपा शासन काल में बिलासपुर का विकास मन्द गति से हुआ। टेम्स नदी का झूठा सपना दिखाकर सरस् सलिला अरपा के अस्तित्व को खतरे में डाला गया। भाजपा शासन काल में गोकुल धाम, ट्रांसपोर्ट नगर जैसी योजनाओं के नाम पर दशकों बिलासपुर की जनता को छला गया। चारों तरफ अराजकता व भू माफियाओं का आतंक रहा। पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा की रहस्यमय मौत से लेकर पत्रकारों तक को खुले आम गोलियों से उड़ा दिया गया, साउंड सर्विस वाले को पीट पीट कर मार डाला गया। ऐसे कई मामलों में हत्यारों से जुड़े साक्ष्य गायब हो गए।

कभी धर्मांतरण के झूठे मुद्दे के नाम पर कभी दूसरे नकारात्मक मुद्दों को हवा देकर भाजपा नेता जिले और प्रदेश का माहौल खराब करने का जो प्रयास कर रहे है उसे जनता समझती है। बिलासपुर के विकास को लेकर घड़ियाली आँसु बहाने वालो का सच जनता जानती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *