प्रांतीय वॉच

घटिया सीसी सड़क निर्माण से ग्रामीणों में आक्रोश,उपसरपंच ने कबूला नीचे से ऊपर तक के कमीशन की हैं सीसी सड़क

  • जहां सीसी रोड का काम चल रहा है वहां ना तो कोई इंजीनियर मौजूद रहते हैं और ना ही सरपंच

यामिनी चन्द्राकर/ छुरा : गरियाबंद जिला की अधिकांश ग्राम पंचायतों में विकास के नाम पर सरकारी धन राशि की होली खेली जा रही है। प्रशासनिक नियंत्रण से मुक्त सरपंच ने अपने चहेते अघोषित ठेकेदारों को जो कोई और नही खुद सरपंच पति को निर्माण कार्य का जिम्मा सौंप रखा है और अपना कमीशन तय कर ग्रामीण विकास को ठेंगा दिखा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला गरियाबंद जिला मुख्यालय जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत खरहरी में सामने आया है जहां अधिकारियों की मिलीभगत से शासकीय राशि का दुरुपयोग कर मनमाने तरीके से निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं।जब कि इन दिनों रोजगार सहायक और सचिंव शासन से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल में चले गए हैं और शासन की मंशा अनुरूप विकास ना रुके साथ ही मजदूरों को काम मिलता रहे इसके चलते उच्च अधिकारियों ने निर्माण कार्यो की अनुमति दे रखी हैं जिसका सरपंच पति भरपूर फायदा उठाकर शासन की राशि की लूट मचा कर रखा हैं।प्राप्त जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत पंचायत में 2लाख रुपये 14वे वित्त की राशि से 60 मीटर सीसी रोड जिसका लागत 2लाख रुपये का निर्माण कार्य पूर्णतः प्राक्कलन से हटकर गुणवत्ता विहीन तरीके से कराया गया है। ग्रामीणों द्वारा बताया जा रहा हैं कि उक्त सड़क के निर्माण में 20 एमएम गिट्टी की जगह भारी मात्रा में डस्ट एवं 30-40 एमएम गिट्टी का उपयोग किया जा रहा हैं। सड़क में कहीं भी 20 एमएम गिट्टी का उपयोग ना के बराबर किया जा रहा है। इसके अलावा मजदूरों की जगह मशीनरी का उपयोग कर मजदूरों के हितों पर भी कुठाराघात किये जाने की जानकारी मिली है।

इस्टीमेट के मुताबिक नही हो रहा हैं निर्माण कार्य

पंचायत के आश्रित ग्राम में सरपंच के द्वारा घटिया सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है। 2 लाख रुपए की लागत से बस्ती के अंदर सीसी रोड का निर्माण हो रहा है। अभी तक 30 मीटर के आस पास रोड का काम हो गया है। जिसमें चिल्फी युक्त गिट्टी व मिट्टी युक्त रेती का इस्तेमाल किया जा रहा है। सीसी रोड में सीमेंट नाम मात्र का डाला जा रहा है।सड़क निर्माण एजेन्सी ग्राम पंचायत सरपंच द्वारा घटिया सीमेंट मटेरियल का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। जिस सीसी रोड का काम चल रहा है वहां पर ना तो कोई इंजीनियर मौजूद रहते और ना ही सरपंच उपस्थित रहता हैं सड़क बनाने के लिए घटिया सीमेंट का धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है। जबकि इस्टीमेट के मुताबिक उच्च क्वालिटी की सीमेंट का सड़क निर्माण सीसी रोड में किया जाना चाहिए।

ग्रामीणों का आरोप

ग्रामीणों का कहना हैं कि सरपंच पति अपने मन मुताबिक स्टीमेट को दरकिनार कर घटिया क्वालिटी के मटेरियल लगा रहा है और तो और स्टेमीट मे उक्त रोड की मोटाई 8 इन्च होना है पर सरपंच पति के आदेश पर कंही 3 इंच तो कंही 5 की ही ढलाई कर रहा है। सरपंच पति द्वारा सीसी रोड निर्माण तमाम नियम कायदों व गुणवत्ता की अनदेखी कर मनमानी तरीके से करा रहा है। जिससे यह घटिया सीसी सड़क साल भर भी नहीं टिक पाएगी। सीसी रोड निर्माण को लेकर ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। ग्रामीणों का कहना है कि इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की जाएगी।

वाइब्रेटर का भी नहीं हो रहा उपयोग

उक्त सीसी रोड निर्माण कार्य में सड़क की गुणवत्ता को दरकिनार करते हुए मनमाने ढंग से निर्माण कराया जा रहा है। सड़क निर्माण में दाब गुणवत्ता लाने के लिए वाइब्रेटर का उपयोग करना जरूरी होता है जिससे सड़क में मजबूती आती है और वह लंबे समय तक टिकती है,पर इसके अनदेखी की जा रही है,शासन की गाइड लाइन के अनुसार किसी भी शासकीय कार्य को प्रारंभ करने से पहले वहां एक बोर्ड लगाना अनिवार्य है जिसमें उसकी लागत,कार्य प्रारंभ व समाप्ति दिवस,मद,संबंधित इंजीनियर का नाम मोबाइल नंबर आदि का उल्लेख करना होता है पर सरपंचपति ने बिना बोर्ड लगाए ही कार्य प्रारंभ कर दिया है।

उपसरपंच ने कबूला हो रहा घटिया निर्माण कमीशन ऊपर से नीचे तक देना हैं

जब इस संबंध मे बात करने के लिए उप सरपंच कमल यादव ग्ग्राम पंचायत खरहरी को फोन किया गया तो उन्होने खुद कबूला की सीसी रोड निर्माण कार्य निम्न स्तर के मटेरियल से हो रहा है व मोटाई की ढलाई भी स्टीमेट के हिसाब से नहीं की जा रही है। उन्होने बताया की रोड की मोटाई 8 इंच की होनी है पर 3 से 4 इंच मोटाई की ढलाई कर रहा है।क्यों कि कमीशन नीचे से ऊपर तक देना है तो कंहा से अच्छा कार्य होगा?

किसने क्या कहा

सीईओ शीतल बंशल जी से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि पूरे मामले की तुरंत जांच करवाती हूँ फिर बता पाऊंगी।

श्रीमती कमलेश बाई ठाकुर ग्राम पंचायत खरहरी से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि 60 मीटर की सीसी सड़क निर्माण कार्य चल रहा हैं मैं निर्माण कार्य स्थल पर नही जाती मेरे पति ही काम देखते हैं।

इस संबंध में सरपंच पति देवनाथ ठाकुर ग्राम खरहरी से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि पिछ्ली पंचवर्षीय का 14वे वित्त का पैसा बचा था और यहा कार्य पुराना है ।पैसा बचा था जिसे पूर्ण किया जा रहा हैं।cgwatchraipurnews, cgwatchchhattisgarhnews, cgwatchdellhinews, cgwatchmumbainews, cgwatchmadypradeshnews
khabarchalisa, dainikchhattisgarhwatch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *